बिलासपुर : प्रताड़ना का शिकार हुई HIV पीड़िता ने लगाई सरकार से मदद की गुहार

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में मानवता को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है, जहां एक HIV पीड़ित लड़की को समाज से लेकर हर मददगार संस्थानों से उसे HIV पीड़ित होने पर सिर्फ प्रताड़ना का शिकार होना पड़ा है, यहां तक कि पीड़िता ने जहां-जहां न्याय का गुहार लगाई उसे वहां से सिर्फ निराशा ही हांथ लगी, अब जब इसे जिला दंडाधिकारी के यहां से भी न्याय नहीं मिला तो वह न्याय पाने के लिए हाईकोर्ट चीफ जस्टिस के पास जाने की बात कह रही है.

दरअसल HIV से पीड़ित यह लड़की पैरो से दिव्यांग है और ठीक से खड़ी खड़े भी नहीं हो पाती. पीड़िता के मुताबिक वह मूलतः पंजाब की रहने वाली है, और उसकी जबदस्ती शादी रायपुर निवासी से कर दी गई थी, लेकिन पति के द्वारा प्रताड़ित किए जाने पर एक महिला मददगार के मध्यम से उसे बिलासपुर के सखी सेंटर में रखा गया और 6 दिन बाद उसे सुधार गृह भेजा गया और जैसे ही सुधार गृह को उसके HIV पॉजिटिव होने का पता लगा तो उनका व्यवहार ही बदल गया.

HIV पॉजिटिव पता होने के बाद सुधार गृह ने उसका बोरिया बिस्तर दूर रख दिया साथ ही साथ उसका खाना पीना देना भी बंद कर दिया, उसके बाद महिला मददगार को पीड़िता का पता लगा और उसने उसे शहर के एक घर में उसे रखवा दिया, लेकिन वहां भी एक बीजेपी नेता ने डायल एमरजेंसी नंबर पर कॉल करके उसे वंहा से निकलवा दिया.

पीड़िता को हर तरफ अपने HIV पॉजिटिव होने का श्राप समाज में हर कदम में खेलना पड़ रहा है पर मदद नहीं मिल पा रही हैं, उसकी इस हालत को देखकर एक महिला अधिवक्ता और थर्ड जेंडर सामने आए है और उसे न्याय दिलाने के लिए हर एक संबंधित विभागों में जा रहे हैं.

Tags

Bilaspur HIV Case Highcourt

Related Articles

More News