वन्यजीव की अवैध खाल बेचते 3 आरोपी गिरफ्तार, होटल मैनेजर की मिलीभगत से चल रहा था गोरखधंधा

रायपुर. छत्तीसगढ़ में संरक्षित वन्यजीव पैंगोलिन की खरीब-बिक्री का गिरोह सक्रिए है। रायपुर के मौदहापारा पुलिस की कार्रवाई के दौरान इस बात का खुलासा हुआ है।

पुलिस ने शुक्रवार पैंगोलिन की 2 नग खाल के साथ 3 लोगों को हिरासत में लिया। इनमें से एक होटल वीनार का मैनेजर है। अन्य दो आरोपियों में से एक अंबिकापुर और एक रायपुर का रहने वाला है। पुलिस के अनुसार यह खाल सात दिन पहले बालाघाट का विजय जैन रायपुर लाया था, होटल मैनेजर की मिलीभगत से संरक्षित जीव की खाल का कारोबार किया जा रहा था।

पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर कार्रवाई करते हुए पेंगोलिन की खाल भी बरामद की है। पुलिस का कहना है कि इस अपराध में कितने लोग शामिल हैं, और इस खाल का क्या करते हैं इस संबंध में जानकारी लेंगे।

बता दें पैंगोलिन की खाल की दक्षिण पूर्व एशिया के देशों में काफी डिमांड है। इसकी परतदार खाल का इस्तेमाल शक्ति वर्धक दवाइयों, ड्रग्स, बुलट प्रूफ जैकेट, कपड़े और सजावट के सामान के लिए किया जाता है। पैंगोलीन 1972 से संरक्षित वन्यजीव है, जिससे संबंधित अपराध पर 7 साल की सजा होती है।

Tags

संरक्षित वन्यजीव पैंगोलिन होटल मैनेजर की मिलीभगत

Related Articles

More News