जनता कांग्रेस के सुप्रीमो अजित जोगी बसपा का चुनाव प्रचार करने पहुंचे पर उन्हें प्रत्याशी का नाम तक याद नहीं

पेंड्रा. लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान समाप्त हो गया है। वहीं दूसरे और तीसरे चरण के मतदान के लिए विभिन्न पार्टी अपनी एड़ीचोटी एक करने में लगी है। छत्तीसगढ़ में तीसरी शक्ति के रूप में अपनी पकड़ बनाई जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन में भी अभी जान बाकी नजर आ रही है। इस बात के संकेत पेंड्रा पहुंचने पर अजीत जोगी ने खुद दिया है। 

ज्ञात हो कि 14 अप्रेल को अंबेडकर जयंती के अवसर पर जांजगीर में बसपा सुप्रीमो मायावती के साथ उनकी एक बड़ी सभा आयोजित होने जा रही है। हालांकि लोकसभा चुनाव में अजीत जोगी ने गठबंधन के प्रति उतने उत्साहित नजर नही आये और स्वीकार भी किया कि गठबंधन की पार्टी लड़ने और हमारी पार्टी के चुनाव नहीं लड़ने पर सहायक पार्टी के प्रति कार्यकर्ताओं में उतना उत्साह नहीं रहता है। 

अजीत जोगी ने कहा कि मै अपने कार्यकर्ताओं में उर्जा भरने की कोशिश करूंगा पर अपनी पार्टी के लिये कार्यकर्ता पूरी उर्जा से लग जाता है पर दूसरी पार्टी के लिये वह उत्साह नजर नही आता है। अजीत जोगी की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के चुनाव नहीं लड़ने पर पार्टी में हताषा और निराशा का अंदाज जोगी के बयान से लगाया जा सकता है वहीं अजीत जोगी को कोरबा लोकसभा के गठबंधन वाले बसपा प्रत्याशी का नाम तक याद नहीं और वे उनको सरदार जी कहकर संबोधित करते नजर आ रहे है।

Tags

लोकसभा चुनाव बहुजन समाज पार्टी गठबंधन पेंड्रा

Related Articles

More News