न केवल लोगों की क्रय शक्ति बढ़ी बल्कि साथ में बढ़ा मान-सम्मान: बघेल

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि विगत सात महीनें के कार्यकाल में नई सरकार ने लोगों के जीवन मे परिवर्तन लाने के लिए कई अहम फैसलें लिये है। इससे लोगों की न केवल क्रय शक्ति बढ़ी है बल्कि उनका मान सम्मान भी बढ़ा है। उन्होंने कहा कि पूरे देश के साथ-साथ प्रदेश में भी कुपोषण एक बड़ी चुनौती है। हमनें इस चुनौती को स्वीकार करते हुए कल दंतेवाड़ा में सुपोषित दंतेवाड़ा अभियान और आज यहां बस्तर जिले में हरिक नानी बेरा यानि खुशहाल बचपन अभियान का शुभारंभ किया जा रहा है। महात्मा गांधी 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में आगामी 2 अक्टूबर से पूरे प्रदेश में कुपोषण मुक्ति महाअभियान प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने तोकापाल में आयोजित कार्यक्रम में 68 करोड़ 57 लाख 49 हजार रूपए के विभिन्न विकास कार्यों की घोषणा की। 24 करोड़ की लागत से तोकापाल में एकलव्य आवासीय विद्यालय भवन का निर्माण, 3 करोड़ 96 लाख 70 हजार रूपए की लागत से बड़ेबादेनार से कावड़गांव मार्ग का निर्माण, 21 करोड़ 63 लाख 52 हजार रूपए की लागत से डिलमिली से पखनार मार्ग का निर्माण तथा 80 लाख रूपए की लागत से कोपागुड़ा में फार्मर गेस्ट हॉउस के निर्माण की घोषणा की।
    मुख्यमंत्री ने अपने उद्बोधन में आगे कहा कि गढ़बों नवा छत्तीसगढ़ की दिशा में शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य और कुपोषण पर विशेष रणनीति बनाकर कार्य किए जा रहे है। इसके लिए स्वास्थ्य के क्षेत्र में आगामी 2 अक्टूबर से ही पूरे प्रदेश में मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक शुरू करेंगे। शिक्षा के क्षेत्र में बस्तर अंचल के सुकमा जिले के 85 बंद स्कूलों शुरू किये गये है। इसी प्रकार जगरगुंडा में विगत 13 वर्षों से बंद विद्यालय को फिर से शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि बस्तर के युवाओं को भटकनें की जरूरत नही पड़ेगी कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड तृृतीय एवं चतुर्थ वर्ग की भर्ती स्थानीय स्तर पर की जायेंगी। इसी प्रकार एनएमडीसी की भर्ती के लिए परीक्षायें भी बस्तर और दंतेवाड़ा में ली जायेंगी।

Tags

CM

Related Articles

More News