नवाखानी त्यौहार मनाने पहुंचे मंत्री लखमा ने कहा- भैंस बलि की परंपरा शुरू करने करेंगे प्रयास तो वही सीएम बघेल बोले- भगवान पूजा से प्रसन्न हो जाते हैं तो बलि की क्या जरुरत

रायपुर। हाल ही में छत्तीसगढ़ के कैबिनेट मंत्री कवासी लखमा की बात ने सनसनी फैला दी है उन्होंने कहा की भैंस बलि देने की प्रथा को चालू कराने की कोशिश करेंगे तो वही सीएम बघेल ने कहा की भगवान पूजा से प्रसन्न हो जाते है तो बलि देने की क्या जरुरत हैl दरअसल, कवासी लखमा अपने गृह निवास सुकमा जिले के नागारास में नवाखानी त्यौहार मनाने के लिए पहुंचे थे। जहां उन्होंने कहा कि कोरसगुड़ा में भैंसा बलि दिए जाने की परंपरा फिर से शुरु करने के लिए वे प्रयास करेंगे।

उन्होंने कहा कि बस्तर के आदिवासियों की संस्कृति को विलुप्त होने नहीं दिया जाएगा और स्कूलों से लेकर हाट बाज़ारों को भी आदिवासी संस्कृति के मुताबिक चलाया जाएगा।वहीं कवासी लखमा ने अपने कनाडा दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि वहां सब पी-खाकर मस्त रहते हैं। दुनिया में केवल बस्तर में ही पीने-खाने पर रोक लगाने की बात होती है। कवासी लखमा के इस बयान पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि जब भगवान पूजा-अर्चना से ही प्रसन्न हो जाते हैं तो जानवरों की बलि नहीं देना चाहिए। फिर भी कुछ लोग बलि देते हैं, तो उनको समझाया जाएगा।

Tags

raipur india

Related Articles

More News