आइपीएस नही बन सकी तो फर्जी आईपीएस बनकर रेड मारने निकली, अब हवालात में

खरड़. एसएसपी आॅफिस में तैनात एक एसपी के मोबाइल पर फोन आया। फोन करने वाली महिला ने कहा कि ‘मैं दिल्ली कैडर की आईपीएस तनिष्का सांगवान बोल रही हूं और इस समय दिल्ली में नारकोटिक्स डिपार्टमेंट में तैनात हूं। मुझे संगरूर में रेड करनी है, इसलिए एक सरकारी गाड़ी खरड़ भेज दीजिए’।

एसपी ने गाड़ी भिजवा दी, लेकिन इससे पहले ही खरड़ पुलिस को सूचना मिल चुकी थी कि एक महिला व उसका साथी खुद को आईपीएस ऑफिसर बताकर लोगों को नौकरी के नाम पर ठगने का काम कर रहे हैं। एसपी द्वारा भिजवाई गई सरकारी गाड़ी जब पहुंची तो खरड़ पुलिस ने ‘गुस्ताफी माफ मैडम जी’ कहते हुए आईकार्ड मांग लिया।

आईपीएस आफिसर ने मुलाजिमों को धमकाना शुरू कर दिया। पुलिस का शक यकीन में बदल गया और तुरंत नकली महिला आईपीएस आॅफिसर और उसके साथी को पकड़ गिरफ्तार कर लिया। इनकी पहचान वसंत कुज, नई दिल्ली की तनिष्का सागवान और खरड़ के तरुण शर्मा के रूप में हुई है। दोनों पर धारा 419,420,170 व 511 के तहत केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। कोर्ट ने दोनों को पुलिस रिमांड पर भेजा है। 

करीब 28 साल की तनिष्का सांगवान ने पूछताछ में बताया कि उसने 2015-16 में आईपीएस की तैयारी की थी लेकिन वह क्वालीफाई नहीं हो पाई थी। इसके बाद वह खुद को आईपीएस ही बताने लगी। सबसे पहले अफगािनस्तान, फिर इस्तांबुल व मलेशिया में तैनात रही। 2015 में उसने जॉब छोड़ दी। उसने तरुण के साथ दोस्ती की और घर बसाने की सोची। वह हाल ही में तरुण के साथ अमृतसर घूमने गई थी। पिछले चार दिन से वह तरुण के परिवार के साथ रह रही थी।

Tags

Kharad IPS Tanishka sangwan Narcotics

Related Articles

More News