यहां प्लास्टिक देने पर मिलेगा भर पेट खाना, प्रदेश का पहला गार्बेज सेंटर खुला

अम्बिकापुर प्लास्टिक से मुक्ति को लेकर देश के प्रधानमंत्री ही नही ब्लिक अम्बिकापुर नगर पालिक निगम भी काफी संवेदनशील है.. इसीलिए आज अम्बिकापुर मे देश के पहले गार्बेज कैफे का शुभांरभ स्वास्थ मंत्री टी एस सिंहदेव ने किया.. लंबे समय से चर्चा मे रहे इस केन्द्र की शुरूआत के बाद अब प्लास्टिक बिनने वालो को प्लास्टिक के बदले रोज भरपेट खाना मिलेगा.. शुभारंभ अवसर की खास बात रही कि एक पुलिस आऱक्षक ने भी आज गार्बेज क्लिनिक मे प्लास्टिक जमा करके जागरुकता की मिशाल पेश की..

अम्बिकापुर मे आज बहुप्रतिक्षित गार्बेज कैफे का शुभारंभ हो गया. प्रदेश के स्वास्थ मंत्री टी एस सिंहदेव , महापौर डॉ अजय तिर्की के साथ निगम और प्रशासनिक अमला मौजूद रहा.. स्थानिय बस स्टैंड मे बनाए गए गार्बेज कैफे को किसी आलिशान रेस्तरां का स्वरूप दिया गया है. गार्बेज कैफे के शुभारंभ के बाद अब प्लास्टिक बिनने वाले गरीब लोगो को आधा किलो प्लास्टिक के बदले भर पेट नाश्ता और एक किलो प्लास्टिक के बदले भर पेट खाना मिलने लगा है.. इधर शुभारंभ अवसर पर पहुंचे केबीनेट मंत्री टी एस सिंहदेव ने भी गार्बेज कैफे मे खाने का स्वाद लिया औऱ जमकर तारीफ की.. और कहा कि अम्बिकापुर के गार्बेज कैफे की तारीफ देश ही नही बल्कि विदेश मे भी हो रही है. उन्होने इस सोंच के लिए अम्बकापुर निगम के लोगो की पीठ थपथपाई.

अम्बिकापुर नगर निगम क्षेत्र को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए निगम प्रबंधन के इस कवायद की चर्चा प्रदेश ही नही ब्लिक पूरे देश मे हो रही है. और ये निश्चित बात है कि प्रशासन की इस पहल के बाद खुद बखुद जागरुक होगें और ऐसी ही जागरुकता की मिशाल जिले के एक पुलिस आरक्षक अनिल विश्वकर्मा ने पेश की. आरक्षक को जिस दिन गार्बेज कैफे खुलने की खबर लगी वो उस दिन से ही अपने घर मे प्लास्टिक को एकत्र करने लगा. और आज जब कैफे का शुभारंभ हुआ.. तो गार्बेज क्लीनिक मे प्लास्टिक जमा करके उसने कैफे मे भर पेट भोजन किया.. इस जागरुक आरक्षक के साथ ही एक आम नागरिक रघुवर ने भी अपने घर और आस पास के प्लास्टिक को जमा करके गार्बेज कैफे के लजीज नाश्ते का आनंद उठाया..

Tags

Raipur

Related Articles

More News