राज्यपाल उईके ने कहा- छत्तीसगढ़ सरकार ने पिछड़े, कमजोर और जरूरतमंद को सबसे पहले राहत देने की शुरुआत की

देश के 71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य कार्यक्रम जगदलपुर में मनाया जा रहा है। यहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली। ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी सरेंडर नक्सली ने परेड में शामिल होकर मुख्यमंत्री को सलामी दी हो।राज्यपाल अनुसुइया उईके ने रायपुर में हो रहे कार्यक्रम में ध्वजारोहण किया। इस दौरान राज्यपाल ने परेड की सलामी ली। पहली बार परेड का नेतृत्व महिला आईपीएस (अंकित शर्मा) ने किया।

पुलिस लाइन में कार्यक्रम में राज्यपाल अनुसुइया उईके ने कहा- छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश के सबसे पिछड़े अंचलों, सबसे कमजोर तबकों और सबसे जरूरतमंद लोगों को सबसे पहले राहत देने की शुरआत की है। लोहंडीगुड़ा में जमीन वापसी, 4 हजार रुपए प्रति मानक बोरा तेंदूपत्ता संग्रहण परिश्रमिक, निर्दोष आदिवासियों को आपराधिक प्रकरण से मुक्ति, मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान, मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना जैसे अनेकफैसलों के अच्छा असर हुआ है।

Tags

Chhattisgarh

Related Articles

More News