सोशल मीडिया में आपत्तिजनक टिप्पणी, एक गिरफतार, भाजपा कार्यकर्ता जांच के घेरे में, गौरीशंकर का आरोप : यह वैचारिक आपातकाल'

रायपुर. पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी पर फेसबुक में अश्लील टिप्पणी और वीडियो प्रसारित करने वालों के विरुद्ध पंडरी थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है जिसके बाद कार्रवाई करते हुए पुलिस ने शिशिर गुप्ता को गिरफतार कर लिया है.

कांग्रेस के नेताओं ने आरोपियों के गिरफ़्तारी की मांग की है. कांग्रेस पार्टी के संचार विभाग की सदस्य किरणमयी नायक ने का कहना है कि ये टिप्पणी और वीडियो भाजपा के सदस्यों ने प्रसारित किया है. किरणमयी नायक ने अपने लिखित शिकायत में अमोल द्विवेदी और शिशिर गुप्ता के नाम उल्लेख किया है. किरणमयी नायक, प्रवक्ता विकास तिवारी, लीगल सेल सदस्य अमित श्रीवास्तव, आईटी सेल अध्यक्ष जयवर्धन बिस्सा ने पंडरी थाना में लिखित शिकायत किया है.

शिकायत पर पंडरी थाना पुलिस ने रिपोर्ट पंजीबद्ध कर लिया है. मामले की विस्तृत तस्दीक की जा रही है.

दूसरी ओर भाजपा कार्यकर्ता पिंटू यादव को भी एक आपत्तिजनक कमेंट करने के मामले में पूछताछ के लिए थाने बुलाया गया था. उन्हें कल भी पूछताछ की जाएगी. पिंटू ने मुख्यमंत्री के नजदीकी व्यक्ति पर फेसबुक पर टिप्पणी की थी जो जांच के दायरे में आ गई है.

इस पूरे मामले में भाजपा नेता गौरीशंकर श्रीवास ने कहा कि सरकार में विरोध सहन करने की क्षमता नही है. पूरे प्रदेश में गिरफतारियां हो रही हैं तथा सोशल मीडिया पर सरकार की आलोचना करने वाले धरे जा रहे हैं. उनमें भय का माहौल व्याप्त है. लोरमी में भी एक की गिरफतारी की गई थी. श्रीवास ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री के सलाहकारों के इशारे पर वैचारिक आपातकाल लगाया जा रहा है.

Tags

वैचारिक आपातकाल फेसबुक शिशिर गुप्ता गिरफतार

Related Articles

More News