महाराष्ट्र चुनाव में चार सीटों पर भाजपा वही तीन सीटों पर शिवसेना को मिली जीत...भाजपा पर भारी पड़े स्थानीय मुद्दे...पवार बोले-शिवसेना संग गठबंधन पर अभी सोचा नहीं

महाराष्ट्र की 288 में से छह विधानसभा सीटों पर नतीजे घोषित हो गए हैं। चार सीटों पर भाजपा और तीन सीटों पर शिवसेना को जीत मिली है। जबकि एक सीट पर एनसीपी और एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार की जीत हुई है। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में साफ हो रहा है कि 2014 के मुकाबले इस बार भाजपा की सीटों में गिरावट हुई है। महाराष्ट्र में सरकार एनडीए की बनने जा रही है, लेकिन भाजपा इन चुनावों में उत्कृष्ट प्रदर्शन नहीं कर पाई, जितनी की उम्मीद जताई जा रही थी। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की मतगणना के बीच एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि  शिवसेना से गठबंधन पर सोचा नहीं है। महाराष्ट्र की जनता का भरोसा भाजपा के साथ नहीं रह गया है। भले ही भाजपा वहां सबसे बड़ी पार्टी बन के उभरी है, लेकिन उसकी सीटें पहले की अपेक्षा कम हो रही है।  इसलिए शिवसेना से गठबंधन नही सोच सकते है |

भाजपा को भारी पड़े स्थानीय मुद्दे...............

2014
चुनावों में भाजपा को 122 और शिवसेना को 63 सीटें मिली थी, जबकि एनसीपी को 41 और कांग्रेस को 42 सीटें मिली थीं। वहीं इस बार नुकसान सीधे-सीधे भाजपा को उठाना पड़ रहा है। जबकि क्षेत्रीय दल शिवसेना और एनसीपी फायदे में दिख रहे हैं। महाराष्ट्र चुनावों में भाजपा मराठा आऱक्षण, किसान कर्जमाफी, सुशासन, तीन तलाक और अनुच्छेद 370 को मुद्दा बना कर इन चुनावों में उतरी थी। लेकिन मौजूदा रुझानों से स्पष्ट लग रहा है कि विपक्षी दलों की तरफ से उठाए गए स्थानीय मुद्दों के सामने भाजपा के राष्ट्रीय मुद्दे कमजोर नजर आए। प्रधानमंत्री मोदी ने भी महाराष्ट्र चुनावों में ताबड़तोड़ रैलियां की और जमकर विपक्ष पर निशाना साधा।

Tags

CHHATISGARH RAIPUR maharastra

Related Articles

More News