BREAKING : सुधर नही रही ब्यूरोक्रेसी, कोरिया के कलेक्टर से नियमित वेतन मांगा तो निलंबित हुआ, एफआईआर भी दर्ज

बैकुंठपुर. चुनावी प्रशिक्षण के दौरान एक पंचायत व्याख्याता को कलेक्टर से नियमित वेतन की मांग करना भारी पड़ गया, कलेक्टर ने ना सिर्फ उसे निलंबित कर दिया, बल्कि उसके खिलाफ एफआईआर के निर्देश दे दिए, जिसके बाद पुलिस उसे पकड़ कर थाने लाई, जहां आरआई ने उसके खिलाफ मामला दर्ज करा दिया, खबर लिखे जाने तक पुलिस ने शिक्षक को अदालत में पेश कर दिया है। 

जानकारी के अनुसार बुधवार को कोरिया जिलामुख्यालय बैकुंठपुर स्थित सेट जोसेफ स्कूल में लोकसभा चुनाव को लेकर प्रशिक्षण जारी था। सूत्र बताते हैं कि तभी छत्तीसगढ़ पंचायत शिक्षक संघ के जिला उपाध्यक्ष व व्याख्याता सुरेन्द्र जायसवाल ने कलेक्टर से मांग की। उनके संघ के शिक्षक संवर्ग को प्रत्येक माह का वेतन राशि का आबंटन होने के बाद भी समय पर वेतन नहीं मिलता है, उन्होंने ऐसा करते हुए प्रशिक्षण को लेकर विरोध किया और बहस करने लगा। 

जिस पर जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर विलास संदीपन भोसकर ने उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए। मौके पर उपस्थित पुलिस के जवानों से शिक्षक का सिटी कोतवाली लेकर पहुंचे, जहां आरआई राममिलन शर्मा ने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। पुलिस ने फौरन मामला दर्ज करते हुए शिक्षक पर 294,506,186 की धारा के तहत अपराध कायम करते हुए उसे अदालत में पेश कर दिया।

Tags

बैकुंठपुर कलेक्टर पंचायत व्याख्याता एफआईआर

Related Articles

More News