बीजेपी ने कांग्रेस पर लगाया नया आरोप, SIT को करार दिया 'भूपेश इन्वेस्टिगेशन टीम'

छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत के बाद कांग्रेस ने सूबे की सत्ता हासिल की. छत्तीसगढ़ में कई बड़े मामलों की जांच को लेकर कांग्रेस ने एसआईटी गठित की. गठन के बाद से ही एसआईटी बीजेपी के निशाने पर आ गया. बीजेपी ने एसआईटी जांच पर कई तरह के सवाल और आरोप लगाए. 

अब भाजपा ने फिर एक बार कांग्रेस द्वारा बनाई गई एसआईटी पर सवाल खड़े कर दिए है. छत्तीसगढ़ में जांच के लिए बनाई गई एसआईटी यानि स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम को बीजेपी ने बीआईटी यानि भूपेश इन्वेस्टिगेशन टीम करार दिया है. भाजपा का आरोप है कि कांग्रेस इसे अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर रही है.

बता दें, पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर सीएम भूपेश बघेल को निशाने पर लिया. प्रेमप्रकाश पाण्डेय का कहना है कि जब से प्रदेश में कांग्रेस सरकार आई है, तब से अराजकता का माहौल है. कानून व्यवस्था ठप्प है. ऐसा कोई दिन नहीं है जब वारदातें ना हुई हो. पुलिस इसलिए भी कार्रवाई नहीं कर पा रही है, क्योंकि उनके तबादले एक-एक सप्ताह के भीतर हो रहे है. पांडेय ने कहा कि राजनीतिक फायदे के लिए पुलिस का इस्तेमाल किया जा रहा है. सरकार बनने के पहले दिन ही एसआईटी बनाई गई थी, लेकिन सौ दिन बाद भी जांच आगे नहीं बढ़ी है.

प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने पीएल पुनिया के तथाकथित टेपकांड पर भी एसआईटी गठित करने की मांग की. उन्होने कहा कि कांग्रेस की सरकार आने के बाद सभी टेपकांड पर एसआईटी जांच की बात कही गयी थी, तो भूपेश इस पर भी जांच कमेटी का गठन करें. वहीं पिछले मामलों में बनाई गई एसआईटी को लेकर उन्होने कहा कि ये अब एसआईटी ना होकर बीआईटी यानि भूपेश इन्वेस्टिगेशन टीम हो गई है. जो उन्हे पसंद आ रहा है वही टीम में है और जो नहीं है वो हट जा रहा है. पूर्व मंत्री के इस आरोप को कांग्रेस ने सिरे से नकार दिया है. कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला का कहना है कि बीजेपी के घोटालों की जांच पर ये उनकी घबराहट है जो सामने आ रही है.

Tags

भाजपा कांग्रेस एसआईटी भूपेश इन्वेस्टिगेशन टीम

Related Articles

More News