सरकार का नया आदेश,'मध्यान्ह भोजन में स्कूल में नही दिया जाएगा अण्डा, घर-घर पहुंचाकर देंगे'

रायपुर. अंडे पर उबाल के बाद सरकार ने जारी किये गए विभागीय आदेश पर स्पष्टीकरण जारी किया है. स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी के हस्ताक्षरित स्पष्टीकरण जारी किया गया है.

आदेश में उल्लेखित किया गया है कि मध्यान्ह भोजन में बच्चों को अंडा खाने की कोई बाध्यता नहीं होगी. शाकाहारी बच्चों के लिए मिड डे मिल में कई वैकल्पिक व्यवस्थाएं की गई है. स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी किये गए स्पष्टीकरण में उल्लेखित है कि आगामी दो सप्ताह में साला विकास समिति एवं पालक की बैठक शाला स्तर पर आयोजित कराई जाए और ऐसे छात्र छात्राओं को चिन्हित किया जाए जो मध्यान भोजन में अंडा ग्रहण नहीं करना चाहते हैं. मध्यान भोजन तैयार करने के पश्चात अलग से अंडे उबालने और पकाने की व्यवस्था की जाए.

जिन छात्र-छात्राओं को चिन्हित किया गया है उन्हें मध्यान्ह भोजन के समान पृथक पंक्ति में बैठाकर मध्यान भोजन परोसा जाए. जिन शालाओं में अंडा वितरण किया जाना हो वहां शाकाहारी छात्र-छात्राओं के लिए अन्य प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थ तथा सुगंधित सोया दूध, सुगंधित मिल्क, प्रोटीन क्रंच, फोर्टिफाइड बिस्किट, फोर्टिफाइड सोया मूंगफली, सोया पापड़ इत्यादि विकल्प की व्यवस्था की जाए. यदि पालकों की बैठक में मध्यान भोजन में अंडा दिए जाने हेतु आम सहमति ना हो तो ऐसी स्कूलों में मध्यान भोजन के साथ अंडा ना दिया जाकर घर पहुंचाकर पूरक आहार प्रदाय रीति शाला विकास समिति द्वारा विकसित की जाए.

Tags

अंडे पर उबाल सरकार ने जारी किये आदेश स्कूल शिक्षा विभाग गौरव द्विवेदी

Related Articles

More News