टाटा के लिए अधिग्रहित जमीन का पट्टा किसानों को वापस करने आ सकते हैं राहुल गांधी

छत्तीसगढ़ में टाटा इस्पात संयंत्र के लिए आदिवासी बहुल बस्तर जिले के लोहांडीगुड़ा क्षेत्र में किसानों की अधिग्रहित जमीन वापस करने की प्रशासनिक प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

छत्तीसगढ़ में टाटा इस्पात संयंत्र के लिए आदिवासी बहुल बस्तर जिले के लोहांडीगुड़ा क्षेत्र में किसानों की अधिग्रहित जमीन वापस करने की प्रशासनिक प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. भूपेश कैबिनेट में 25 दिसंबर को निर्णय होने के बाद प्रशासनिक कवायद शुरू की गई थी. बताया जा रहा है कि अधिग्रहित जमीन का पट्टा किसानों को वापस करने के लिए कार्यक्रम का आयोजन बस्तर में करने की तैयारी की जा रही है. इस कार्यक्रम में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हो सकते हैं.

बस्तर के लोहांडीगुड़ा में टाटा इस्पात संयंत्र के लिए 10 गांवों के 1707 किसानों की जमीन अधिग्रहित की गई थी, लेकिन टाटा ने यहां संयंत्र लगाने का निर्णय वापस ले लिया. इसके बाद किसान जमीन वापस करने की मांग कर रहे थे. विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान भूपेश बघेल और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने वादा किया था कि सरकार बनने पर जमीन किसानों को वापस की जाएगी. अब इसकी कवायद भी शुरू कर दी गई है.

बस्तर के लोहंडीगुड़ा तहसील के 10 ग्रामों के किसानों की टाटा इस्पात के लिये अधिग्रहित निजी भूमि की वापसी की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मूल भूमि स्वामी या उनके वारिसान को अर्जित भूमि की वापसी हेतु नामांतरण के लिये तहसीलदार द्वारा ग्रामवार पृथक—पृथक प्रकरण पंजीबद्ध किया जाएगा।

Tags

Tata steal Lohandiguda Bastar Rahul gandhi

Related Articles

More News