छत्तीसगढ़

बजट से पहले 30 जनवरी को मोदी सरकार ने बुलाई सर्वदलीय बैठक

दिल्ली । एक फरवरी को पेश होने वाले बजट से पहले मोदी सरकार सभी दलों से विचार-विमर्श करेगी। केंद्र सरकार ने 30 जनवरी को वीडियो कांफ्रेंसिंग से होने वाली सर्वदलीय बैठक में सभी राजनीतिक दलों के दोनों सदनों के नेताओं को आमंत्रित किया है। कोरोना से जुड़ी सभी सतर्कता के बीच बजट सत्र दो टुकड़ों में आयोजित होगा। संसद के बजट सत्र का पहला चरण 29 जनवरी से 15 फरवरी तक चलेगा तो दूसरा भाग आठ मार्च से आठ अप्रैल तक आयोजित होगा।
सूत्रों का कहना है कि इसी दिन एनडीए की भी बैठक होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली इस सर्वदलीय बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह, राज्यसभा में नेता थावरचंद गहलोत, उपनेता पीयूष गोयल, संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी, अर्जुन राम मेघवाल वी. मुरलीधरन सरकार की तरफ से भाग लेंगे। इस बैठक में सभी राजनीतिक दलों के दोनों सदनों के नेता भी हिस्सा लेंगे। साढ़े 11 बजे से बुलाई गई यह बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से होगी।
29 जनवरी से प्रारंभ होने जा रहे बजट सत्र में फिर से एक घंटे का प्रश्न काल बहाल कर दिया गया है, जबकि कोरोना काल में सितंबर में हुए मानसून सत्र के दौरान प्रश्नकाल को स्थगित कर दिया गया था। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने मंगलवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में बताया था कि बजट सत्र के दौरान संसद आने वाले सांसदों का कोरोना टेस्ट अनिवार्य होगा।

Back to top button