छत्तीसगढ़

मां कुदरगढ़ी स्टील कंपनी के कैशियर से हुये लाखों रूपये की डकैती का खुलासा, डकैती में शामिल 9 आरोपी गिरफ्तार

रायपुर। स्टील कंपनी में हुए डकैती का खुलासा हुआ है। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। प्रार्थी नित्यानंद छुरा उर्फ अनिल ने थाना उरला में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह मां कुदरगढ़ी स्टील प्रा0लि0 सरोरा उरला रायपुर में कैशियर का काम करता है। उक्त कंपनी का आॅफिस फाफाडीह रायपुर में वालफोर्ड ओजोन बिल्डिंग में है। प्रार्थी सिटी आफिस से कंपनी, बैंक एवं कंपनी तक पैसा को लाने ले जाने वितरण करने का काम करता है। प्रार्थी 15 जनवरी को आॅफिस से रात्रि में 8 बजे करीबन लगभग 20,00,000 रू लेकर निकला तथा अपने घर चला गया। प्रार्थी के पास कंपनी का पूर्व का पैसा कुछ कलेक्शन किया हुआ एवं बचत पैसा लगभग 11,00,000 रू रखा था। उक्त रकम कंपनी में मजदूरों, कान्ट्रेक्टर एवं ट्रकों का भाडा देने हेतु था। प्रार्थी 16 जनवरी को सुबह करीबन 9ः45 बजे अपने एच0 एफ0 डीलक्स मोटर सायकल क्रमांक सी जी 04 एच बी 7840 से मां कुदरगढ़ी स्टील कंपनी सरोरा जा रहा था एवं बैग में नगदी रकम लगभग 31,00,000 रू रखा था। प्रार्थी सरोरा बस्ती होते हुए जा रहा था कि लगभग 11ः15 बजे मां कुदरगढ़ी स्टील कंपनी से पहले खाली जगह पर पहुंचा था वहां पर पीछे से पहले एक बाईक बिना नबंर डीलक्स जिसमें दो व्यक्ति आए जो मुंह में गमछा बांधे हुए थे बाईक में पीछे बैठा व्यक्ति प्रार्थी को स्टील के पाईप से मारने लगा उसी समय एक दूसरे बाईक से दो तीन व्यक्ति आए और प्रार्थी के उपर मिर्ची पाऊडर डालने लगे, जिससे प्रार्थी भागने का प्रयास करने लगा उसी समय तीसरे बाईक मंे दो तीन लडके आए सभी मिलकर प्रार्थी को स्टील पाईप से मारने लगे तथा प्रार्थी के पास रखें बैग को लूटकर भाग गए। तीन मोटर सायकल मंे 6 से 7 व्यक्तियों ने प्रार्थी के साथ मारपीट कर बैग में रखें नगदी रकम लगभग 31,00,000 रू को लूटकर भाग गए। जिस पर अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना उरला में अपराध क्रमांक 16/21 धारा 395, 397 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।
दिन दहाड़े अज्ञात आरोपियों द्वारा डकैती करने की घटना को पुलिस महानिरीक्षक रायपुर क्षेत्र रायपुर आनंद छाबड़ा द्वारा गंभीरता से लेते हुये पुलिस उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अज्ञात आरोपियों की पतासाजी कर जल्द से जल्द गिरफ्तार करने निर्देशित किया गया। जिस पर पुलिस उप महानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा उक्त प्रकरण की स्वयं माॅनिटरिंग करते हुये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर लखन पटले, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण तारकेश्वर पटेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध अभिषेक माहेश्वरी, नगर पुलिस अधीक्षक उरला पारूल अग्रवाल, प्रभारी सायबर सेल रमाकान्त साहू को अज्ञात आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तार करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा निर्देशन में लगभग 30 सदस्यीय अलग – अलग टीमों का गठन किया गया। टीम का नेतृत्व निरीक्षक रमाकांत साहू द्वारा किया जा रहा था। टीमों के सदस्यों द्वारा घटना स्थल का बारिकी से निरीक्षण किया जाकर घटना के संबंध में प्रार्थी से विस्तृत पूछताछ किया गया। घटना स्थल व उसके आसपास अलग – अलग दिशाओं में लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों का अवलोकन 03 टीमें कर रहीं थी। अज्ञात आरोपियों की पतासाजी हेतु प्रकरण में मुखबीर भी लगाये गये। अज्ञात आरोपियों के संबंध में तकनीकी विश्लेषण हेतु 01 टीम लगाने के साथ – साथ तरीका वारदात के आधार पर इस तरह की घटना कारित करने वाले डकैती/लूट के पुराने आरोपियों के संबंध में लगातार तस्दीक किया जाकर उनकी गतिविधियों पर सतत् निगाह रखीं जा रही थीं। टीम के अलग – अलग सदस्यों द्वारा उक्त कंपनी में कार्य करने वाले कर्मचारियों से घटना के संबंध में पृथक – पृथक पूछताछ कर उनका कथन लेने के साथ ही पूर्व में कंपनी में काम छोड़ चुके कर्मचारियों के संबंध में जानकारियां एकत्र की जाकर उनकी भी तस्दीक किया जाकर अज्ञात आरोपियों को चिन्हांकित करने के प्रयास किये जा रहे थे। थाना खमतराई एवं उरला क्षेत्र के पुराने बदमाशों की पतासाजी हेतु आर. अभिषेक सिंह एवं हिमांशु राठौर को लगाया गया था जिन्हें पतासाजी के दौरान महत्वपूर्ण सूचना प्राप्त हुई कि हेमंत साहू किसी व्यक्ति से लूट करने के लिये मुखबीर को घटना में शामिल होने के लिये बोला था। प्राप्त सूचना के आधार पर टीम द्वारा हेमंत साहू की पतासाजी करना प्रारंभ किया गया तथा हिन्छाराम साहू जो स्वयं उक्त कंपनी में कार्यरत है से घटना के संबंध में पूछताछ करने पर वह बार – बार अपना बयान बदल रहा था एवं किसी भी प्रकार से घटना में अपनी संलिप्तता नहीं होना बताकर लगातार टीम को गुमराह करने का प्रयास कर रहा था। जिस पर टीम द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर वह अधिक समय तक अपने झूठ पर टिक न सका और अंततः अपने अन्य 08 साथियों के साथ मिलकर डकैती की उक्त घटना को कारित करना स्वीकार किया गया। आरोपी हिन्छाराम ने प्रार्थी के द्वारा घटना दिनांक को पेमेंट करने आने की बात एवं पुलिस पूछताछ की जानकारी आरोपी हेमंत साहू को दे रहा था। जिस पर टीम द्वारा पूरी रात लगातार रेड कार्यवाही करते हुये घटना में शामिल आरोपियों को गिरफ्तार करना प्रारंभ किया गया। टीम द्वारा आरोपी हिन्छाराम एवं भूषण को हिरासत में लेने पर जानकारी प्राप्त हुई कि घटना में शामिल आरोपी हेमंत, हेमकल्याण, हरीश, लिकेश पटेल एवं टीकेन्द्र पकड़े जाने के डर से सभी किराये की चार पहिया वाहन में गोवा भाग रहे है। जिस पर एक टीम तत्काल आरोपियों का पीछा करने के लिये रवाना किया गया। आरोपियों का लगातार पीछा करते रहे एवं गौरेला-पेंड्रा में पदस्थ उप निरीक्षक योगेश अग्रवाल एवं म.प्र. के जिला अनुपपुर के पुलिस कन्ट्रोल रूम को सूचना देने के साथ ही थाना जैतहरी में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक लकड़ा के साथ टीम के सदस्यों द्वारा आरोपियों के संबंध में जानकारी साझा किया गया तथा सभी के सहयोग से आरोपियों को म.प्र. के अनुपपुर में पकड़ा गया। इस तरह से घटना में शामिल सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। पूरी घटना का मास्टर माइंड हेमंत साहू है जिसने हिन्छाराम साहू को योजना में शामिल किया। हेमंत अपने गांव के 02 अन्य लोग को घटना में शामिल किया एवं शेष 03 आरोपियों को लिकेश पटेल निवासी गिरौध धरसींवा द्वारा शामिल किया गया। हेमंत साहू ने रकम डकैती/लूटने की योजना बनायी थी। हिन्छाराम साहू ने घटना में शामिल सभी आरोपियों को बताया कि कंपनी के कैशियर के पास बहुत अधिक मात्रा में नगदी रकम रहता है जो 02 नंबर का पैसा रहता है, पैसा को लूटने के बाद इसकी रिपोर्ट नहीं करायेंगे। आरोपी हिन्छा राम साहू ने ही सभी आरोपियों को कंपनी के कैशियर नित्यानंद छुरा को दिखाया था। दिनांक 14.12.2020 को भी आरोपियों ने कैशियर नित्यानंद छुरा से नगदी रकम लूटने की कोशिश किये थे परंतु असफल रहें। आरोपियों की निशानदेही पर उनके कब्जे से डकैती की नगदी 25,00,000/- (पच्चीस लाख रूपये) एवं घटना में प्रयुक्त 02 नग मोटर सायकल (हीरो होण्डा साईन लिवो क्र. सी जी/04/एम डब्ल्यू/6945 एवं हीरो एच एफ डीलक्स क्र.सी जी/04/एम एच/2964), 07 नग मोबाईल फोन एवं मारपीट में प्रयोग पाईप जप्त किया गया है। आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही किया गया।

गिरफ्तार आरोपी

  1. हिन्छा राम साहू पिता शंकर राम साहू उम्र 38 साल निवासी ग्राम निमोरा थाना धरसींवा रायपुर।
  2. हेमंत साहू पिता धनेश साहू उम्र 24 साल निवासी ग्राम निमोरा थाना धरसींवा रायपुर।
  3. टीकेन्द्र सेन पिता राजेश सेन उम्र 18 साल निवासी ग्राम निमोरा थाना धरसींवा रायपुर।
  4. भूषण वर्मा पिता हनुराम वर्मा उम्र 32 साल निवासी ग्राम हतपान थाना बेरला जिला बेमेतरा।
  5. लिकेश पटेल पिता रोहित पटेल उम्र 20 साल निवासी गिरौध थाना धरसींवा रायपुर।
  6. हेम कल्याण कोसले पिता राजेश कोसले उम्र 20 साल निवासी गिरौध थाना धरसींवा रायपुर।
  7. हरीश पटेल पिता विश्वनाथ पटेल उम्र 19 साल निवासी गिरौध थाना धरसींवा रायपुर।
  8. डोमेश साहू पिता शंकर लाल साहू उम्र 28 साल निवासी ग्राम निमोरा धरसींवा रायपुर।
  9. भूपेन्द्र पटेल पिता स्व0 राम खिलावन पटेल उम्र 32 साल निवासी ग्राम निमोरा धरसींवा रायपुर।

आरोपियों की गिरफ्तारी में लगी टीम
पूछताछ टीम – निरीक्षक रमाकांत साहू, उपनिरीक्षक अमित कश्यप, प्र.आर. सरफराज चिश्ती, जमील खान, मार्तण्ड सिंह, आर. राजिक खान, कृपासिंधु पटेल, अभिषेक सिंह, हिमांशु राठौर, दिलीप जांगडे।

सी.सी.टी.व्ही. फुटेज (भागने वाले रास्ते का) – निरीक्षक सोनल ग्वाला, प्र.आर. संदीप दीक्षित, आर. रवि तिवारी , प्रमोद बेहरा, राकेश पाण्डेय, मोह0 सुल्तान।

सी.सी.टी.व्ही. फुटेज (आने वाले रास्ते का) – निरीक्षक अमित तिवारी, निरीक्षक गिरीश तिवारी, आर. विजय पटेल, धनंजय गोस्वामी, जसवंत सोनी, नोहर देशमुख, आशीष राजपूत।

तकनीकी टीम – प्र.आर. महेन्द्र राजपूत, बौधा सिंह नेताम, आर. चिंतामणी साहू, सुरेश देशमुख, घनश्याम साहू, म.आर. बबीता देवांगन।

Back to top button