छत्तीसगढ़ट्रेंडिंग न्यूज़

रमजान माह में कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सोशल-फिजिकल डिस्टेंसिंग और शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का करना होगा पालन

छत्तीसगढ़। रमजान माह को देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड ने एडवायजरी जारी की है। वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी ने बताया कि 24 या 25 अप्रैल से रमजान शरीफ महीने की शुरुआत हो रही है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए अभी लॉकडाउन है और हमें रमजान में भी नियमों का पालन करना होगा। उन्होंने रमजान में जुमा एवं तरावीह की नमाज घरों में ही अदा करें। शारीरिक दूरी बनाए रखने के नियम पालन करें। छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड यह अपील करता है कि आप अपने घरों से बाहर न निकलें और अपने आसपास सफाई का इंतजाम करें। सभी लोग घरों से ही नमाज अदा करें। अजान एवं एलान की अवधि डेढ़ मिनट से अधिक न हो। सायरन का उपयोग सेहरी के वक्त 5 सेकंड के लिए और इफ्तार के वक्त 5 सेकंड के लिए कम आवाज में करें।

छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी की अध्यक्षता में आज रायपुर शहर के विभिन्न मस्जिदों के मुतवल्ली और इमाम की बैठक कंट्रोल रूम (राज्य वक्फ बोर्ड) रेडक्रास भवन कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित की गई। बैठक में समस्त वक्फ संस्थाओं, मस्जिदों के प्रशासकों को पवित्र माह रमजान में कोविड- के संक्रमण से बचने के लिए सोशल-फिजिकल डिस्टेंसिंग और शासन-प्रशासन द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने की अपील की है। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि रमजान माह में भी सोशल-फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन अनिवार्य रूप से किया जाएगा। सभी फर्ज नमाज, जुमा की नमाज, तरावीह की विशेष नमाज आम मुसलमान अपने-अपने घरों में ही अदा करेंगे। पांचो वक्त की नमाज के लिए निर्धारित वक्त पर अजान लाउडस्पीकर में कम तीव्रता के साथ दी जाएगी और अजान के बाद यह ऐलान किया जाएगा कि सभी लोग अपने-अपने घरों में नमाज अदा करें। बैठक में वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी ने सभी मस्जिदों के ईमाम हजरात से इस बात की गुजारिश कि वह हर वक्त की नमाज के बाद कोरोना वायरस महामारी से मुल्क ए हिन्दुस्तान की आवाम को महफूज रखने की विशेष दुआ जरूर करें। बैठक में यह भी तय किया गया कि रमजान में विशेष नमाज तरावीह धारा 144 का पालन करते हुए अदा की जाए। इस संबंध में शहर काजी और विभिन्न मस्जिदों के इमाम ने यह बताया कि शरीअत और इस्लाम के मुताबिक तरावीह की नमाज सुन्नत-ए-किफाया है। आम लोग अपने-अपने घरों में तरावीह की नमाज अदा कर सकते है। इस पर सभी मुतवल्लियों और ईमाम हजरात ने अपनी सहमति व्यक्त की और शासन-प्रशासन को आश्वस्त किया कि रमजान माह में भी लॉकडाउन और शासन-प्रशासन के निर्देशों का पूरा पालन किया जाएगा। बैठक में छत्तीसगढ़ राज्य वक्फ बोर्ड के सदस्य अधिवक्ता फैजल रिजवी, प्रशासनिक अधिकारियों में ए.सी.पी. पंकज चंद्रा, एस.डी.एम. रायपुर प्रणव सिंह, सी.एस.पी. सिविल लाईन नसर सिद्दीकी, शहर की समस्त मस्जिदों के मुतवल्ली, ईमाम, ओलमा एवं बोर्ड के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

Tags
Back to top button