Breaking Newsछत्तीसगढ़

रायपुर में 31 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों को ही लग पाया टीका, अब किसी भी बूथ पर टीका लगवाने की आजादी

छत्तीसगढ़ में 16 जनवरी से शुरू हुआ कोरोना वैक्सीनेशन जारी है। इस बीच रायपुर जिले में केवल 31 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा सका है। इसको देखते हुए सरकार ने स्वास्थ्य कर्मियों को किसी भी वैक्सीनेशन बूथ पर पहुंचकर टीका लगवाने की आजादी दे दी है। टीके का पहला डोज 13 फरवरी तक ही लगना है।

रायपुर कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन और मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. मीरा बघेल ने कहा है, जिनका नाम कोविन पोर्टल में दर्ज है वे किसी भी कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र में जाकर वैक्सीन लगवा सकते हैं। इसके लिए उन्हें अपना फोटो पहचान पत्र दिखाना होगा। पंजीकृत मोबाइल नंबर के आधार पर उनका नाम पोर्टल से सर्च कर मिलान किया जा सकता है।

अभी तक कोविन पोर्टल में पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों के नाम में से 100 व्यक्तियों को निश्चित बूथ पर बुलाया जाता रहा है। पहले दिन से लेकर अभी तक केवल एक दिन ऐसा आया था कि रायपुर जिले में 100 प्रतिशत लोगों ने टीका लगवाया हो। अभी तक केवल 31 प्रतिशत लोग ही टीका लगवा पाए हैं। पूछने पर बूथों पर पहुंचने की असुविधा की बात सामने आ रही है। इसको देखते हुए नियमों में बदलाव हुआ है।

आज प्रदेश भर के 358 वैक्सीनेशन बूथ पर 21888 स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड-19 वैक्सीन दी गई है। बताया गया कि अभी तक 101564 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जा चुका है। पहले चरण में 2.67 लाख स्वास्थ्य कर्मियों को यह टीका लगाया जाएगा।

Back to top button