CRIMEगौर से देखिए

नौवीं के छात्र ने स्कूल जाने के डर से अपहरण की झूठी कहानी रच डाली

लखनऊ. नौंवी के छात्र ने स्कूल नहीं जाने के लिए खुद के अपहरण की झूठी कहानी रच डाली और मौसी से लिए रुपये ये टिकट खरीद ट्रेन से दिल्ली भाग गया. शनिवार को घर से स्कूल के लिए निकले छात्र ने दिल्ली पहुंचकर घर वालों को अपने अपहरण का व्हाट्सएप संदेश भेज कर मोबाइल बंद कर लिया. मामला पुलिस में जाने के बाद नंबर सर्विलांस पर लगाया गया तो लोकेशन दिल्ली की मिली. पुलिस ने किसी तरह उसकी बात फूट-फूट कर रोती हुई मां से बात कराई तो वह भी भावुक हो उठा और गलती मानते हुए घर लौट आया, तब जाकर परिजनों और पुलिस दोनों ने राहत की सांस ली.
राजाजीपुरम निवासी 15 वर्षीय किशोर ननिहाल में रह कर राजाजीपुरम स्थित सेंट जोजफ स्कूल में नौंवी की पढ़ाई कर रहा है. पिता प्राइवेट नौकरी करते हैं और मां गृहिणी हैं.

एक माह तक स्कूल जाने के बजाय मॉल-पार्क में घूमा

करीब एक माह से छात्र सुबह घर से स्कूल के लिए निकलता मगर जाने के बजाय मॉल-पार्क में घूमता था. छात्र के व्यवहार में बदलाव देखकर मौसी ने उसे टोका और मां को सूचना दे दी. नाराज मां ने कहा था कि मैं तुम्हारे स्कूल चल कर बात करूंगी. शनिवार सुबह मां को स्कूल जाना था. यह बात सोच कर छात्र परेशान था. उसे डर था कि मां के स्कूल जाते ही सच्चाई सामने आ जाएगी. इस डर से शनिवार सुबह छात्र घर छोड़ कर निकल गया. वह राजाजीपुरम से चारबाग रेलवे स्टेशन पहुंचा. जहां से ट्रेन में बैठ कर दिल्ली चला गया.

मौसी से आठ हजार लेकर निकला था

छानबीन में पता चला कि छात्र ने घर छोड़ने का मन बना लिया था. उसने मौसी को बातों में उलझा आठ हजार भी लिए थे. रुपये लेकर शनिवार वह घर से निकला था. रास्ते में कई जगह खाने में खर्च किए थे. इंस्पेक्टर विनोद यादव के मुताबिक शहर से निकलते ही छात्र ने मोबाइल ऑफ कर लिया. वह स्टेशन के वाईफाई से व्हाट्सएप मैसेज ऑडियो स्क्रिप्ट भेज रहा था. छात्र की व्हाट्सएप कॉल पर मां से बात कराई गई. मां को रोता सुनकर वह भी भावुक हो गया और रविवार को लौट आया.

परिवार ने कोतवाली पर किया था हंगामा

शनिवार छात्र समय पर घर नहीं पहुंचा तो परिजन स्कूल पहुंचे तो पता चला कि छात्र आया ही नहीं था. शाम पांच बजे छात्र के नम्बर से मां को व्हाटसएप मैसेज मिला, जिसमें लिखा था कि मैं फोन नहीं उठा सकता. मैसेज से बात हो सकती है. अपहरण पता चलते बाजारखाला कोतवाली पहुंच कर काफी देर हंगामा किया गया. गंभीरता देख नम्बर सर्विलांस पर लिया तो लोकेशन दिल्ली होने की बात सामने आई.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button