National

एलपीजी गैस के बाद अब गैस कनेक्‍शन लेना भी हुआ महंगा, जानें नई कीमत

दिल्ली. अगर आप नया रसोई गैस कनेक्‍शन लेने का प्‍लान कर रहे हैं तो यह खबर आपको झटका देगी. जी हां, पेट्रोलियम कंपनियों ने घरेलू गैस के नए कनेक्शन की कीमत में बढ़ोतरी कर दी है. पहले एक स‍िलेंडर का कनेक्‍शन लेने के ल‍िए 1450 रुपये देने होते थे. लेक‍िन अब इसके ल‍िए 750 रुपये ज्‍यादा यानी 2200 रुपये देने होंगे.

दो स‍िलेंडर के ल‍िए 4400 रुपये स‍िक्‍यो‍र‍िटी

दरअसल, पेट्रोल‍ियम कंपन‍ियों की तरफ से 14.2 किलोग्राम वजन वाले गैस सिलेंडर के कनेक्‍शन पर प्रत‍ि स‍िलेंडर 750 रुपये का इजाफा क‍िया है. यद‍ि आप दो स‍िलेंडर वाला कनेक्‍शन लेते हैं तो आपको 1500 रुपये का अत‍िर‍िक्‍त भुगतान करना होगा. यानी आपको इसके ल‍िए 4400 रुपये स‍िक्‍यो‍र‍िटी के रूप में देने होंगे. पहले इसके ल‍िए 2900 रुपये देने होते थे. कंपन‍ियों की तरफ से क‍िया गया यह बदलाव 16 जून से प्रभावी होगा.

रेग्युलेटर के लिए अब देने होंगे 250 रुपये

इसी तरह रेग्युलेटर के लिए आपको 150 रुपये की जगह 250 रुपये खर्च करने होंगे. इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम की तरफ से दी गई जानकारी में बताया गया कि 5 किलो के सिलेंडर की सिक्योरिटी अब 800 की बजाय 1150 कर दी गई है.

उज्ज्वला योजना पर भी महंगाई की मार

केंद्र सरकार की महत्‍वाकांक्षी योजना ‘प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना’ के ग्राहकों को भी नई दरें लागू होने से झटका लगेगा. उज्ज्वला योजना के ग्राहक यद‍ि अपने कनेक्शन पर सिलेंडर को डबल कराते हैं तो दूसरे सिलेंडर के ल‍िए बढ़ी हुई स‍िक्‍योर‍िटी जमा करनी होगी. हालांक‍ि, किसी को नया कनेक्शन मिलता है तो उसे सिलेंडर की सिक्योरिटी की पहले वाली ही देनी होगी.

क‍िस मद में क‍ितने रुपये

नान सब्सिडी गैस सिलेंडर की कीमत—1065 रुपये
स‍िलेंडर के ल‍िए सिक्योरिटी राशि—-2200 रुपये
रेग्युलेटर के लिए सिक्योरिटी—250 रुपये
पासबुक के लिए—-25 रुपये
पाइप के लिए—-150 रुपये

अब 3690 रुपये में म‍िलेगा नया कनेक्शन

यद‍ि अब आप एक स‍िलेंडर वाला नया गैस कनेक्शन लेने जाते हैं तो इसके ल‍िए आपको 3690 रुपये का भुगतान करना होगा. यद‍ि आप चूल्‍हा लेना चाहते हैं तो इसके ल‍िए अलग से पैसे देने होंगे. रसोई गैस की लगातार बढ़ती कीमतों के बीच कनेक्शन महंगा होने से लोगों को झटका लगा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button