खेल

एशियन गेम्स गोल्ड मेडलिस्ट एथलिट हरि चंद नहीं रहे

चंडीगढ़. दो बार के ओलंपियन और डबल एशियाई गेम्स के स्वर्ण पदक विजेता हरि चंद का सोमवार को 69 वर्ष की आयु में निधन हो गया. भारत के सबसे महान धावकों में से एक हरि चंद पंजाब के होशियारपुर जिले के घोरेवा गांव के थे.

मॉन्ट्रियल में 1976 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में हरि चंद 10,000 मीटर में 28: 48.72 के समय के साथ आठवें स्थान पर रहे. यह एक राष्ट्रीय रिकॉर्ड था, जो 32 साल तक बना रहा, जब तक कि सुरेंद्र सिंह ने इसे तोड़ नहीं दिया. इसके बाद, उन्होंने 1980 के ओलंपिक मैराथन में भाग लिया, जहां उन्होंने मॉस्को के लेनिन स्टेडियम में 2:22:08 के समय के साथ रेस पूरी की.

Aamaadmi Patrika

1978 के बैंकाक एशियाई गेम्स में हरि चंद ने दो स्वर्ण पदक जीते. वह 5,000 मीटर और 10,000 मीटर दोनों स्पर्धाओं में पोडियम के शीर्ष पायदान पर थे. गेम्स में उनके योगदान के लिए हरि चंद को अर्जुन पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था.

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि होशियारपुर का दोहरा स्वर्ण पदक विजेता भारतीय एथलेटिक्स का गौरव था और वह आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणा का स्रोत रहेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button