छत्तीसगढ़

Chhattisgarh News: यहां की नई दुकानें होंगी नीलाम‎… 1819 दुकानें होंगी फ्री होल्ड

दुर्ग‎ शहर के सबसे व्यस्त बाजार इंदिरा‎ मार्केट स्थित निगम की 1819‎ दुकानों को फ्री होल्ड किया जाएगा. इसे लेकर निगम ने तैयारी शुरू कर‎ दी है. इससे सभी लीजधारकों को‎ दुकान के मेंटेनेंस के लिए स्वतंत्र‎ अधिकार मिल सकेगा. वर्तमान में‎ निगम की निर्भरता है. इस वजह से‎ दुकानों का लंबे समय से मेंटेनेंस‎ नहीं हो पाया है. दुकानें काफी जर्जर‎ हो चुकी है. पूरे इंदिरा मार्केट में‎ वकील काम्प्लेक्स, प्रेस काम्प्लेक्स,‎ व्यावसायिक काम्पलेक्स का‎ आवंटन किया गया है. लगभग सभी‎ दुकानें जर्जर हो चुके हैं. निगम ने‎ यह भी तैयारी की है कि लीजधारक‎ और किराएदार पर निर्भर होगा कि‎ वह चाहे तो दुकान को फ्री होल्ड‎ कराए. इसके अलावा पूरी बिल्डिंग‎ जर्जर होने की दशा में निगम उसे‎ तोड़कर पुन: दुकान बनाकर उन्हें‎ आवंटित करने के भी तैयारी में है. इस पर भी चर्चा जारी है. इधर‎ नलघर और गंजपारा काम्पलेक्स में‎ खाली पड़ी आवंटन को लेकर‎ पांचवीं बार नीलामी निकाली गई है.
इंदिरा मार्केट काम्पलेक्स‎ जर्जर, मेंटेनेंस तक नहीं‎ इंदिरा मार्केट का काम्पलेक्स करीब‎ 35 साल पहले बनाया गया. करीब‎ 1819 दुकानों का निर्माण किया‎ गया. वर्तमान में यह पूरा बाजार के‎ रूप में विकसित हो चुका है. निगम‎ के निर्माण के बाद कुछ ही दुकानों‎ व सार्वजनिक स्थलों पर बिल्डिंग‎ का मेंटेनेंस कराया. इसके अलावा‎ कुछ लोगों ने दुकान का नियम‎ विरुद्ध स्वरूप भी बदल लिया है,‎ जिन पर आज तक कार्रवाई नहीं‎ की गई. वर्तमान में निगम ने फ्री‎ होल्ड करने के साथ ऐसी सारी‎ दुकानों का सर्वे कराना भी तय‎ किया है. जल्द ही इसकी भी‎ प्रक्रिया शुरू होनी है.
10 करोड़ से ज्यादा खर्च कर बनाई गई दुकानें‎ निगम ने पुरानी गंजमंडी और नलघर काम्पलेक्स के निर्माण में करीब 10‎ करोड़ रुपए खर्च किया. दुकान के निर्माण को लेकर लगातार घटिया होने‎ की शिकायत भी हुई. यहां तक नजूल के जमीन का हस्तांतरण भी नहीं‎ कराया गया. इस वजह से दुकानों के आवंटन को लेकर लोगों द्वारा रूचि‎ नहीं ली जा रही. वर्तमान में पुन: आवंटन की प्रक्रिया शुरू की गई है. इसके लिए 7 तक आवेदन और 8 को ड्रा निकालना तय किया है.
8 सितंबर को ड्रा के‎ माध्यम से होगा आवंटन‎ पुरानी गंजमंडी और नलघर‎ काम्पलेक्स में बनाई गई दुकानों के‎ आवंटन के लिए 7 सितंबर तक‎ आवेदन किया जा सकता है. आरक्षण के आधार पर दुकानों का‎ आवंटन होना है. 300 रुपए‎ आवेदन फार्म और ऑफसेट प्राइज‎ का 10 प्रतिशत जमा करना होगा. वर्तमान में पुरानी गंजमंडी में 74‎ दुकानों में से 7 दुकानें आवंटित हुए‎ हैं. वहीं नलघर काम्पलेक्स की 44‎ में सिर्फ 6 दुकानें आवंटित हुई हैं. 4 बार नीलामी के बाद यह स्थिति‎ है. इसे देखते हुए पुन: निगम ने‎ नीलामी के माध्यम से दुकानों का‎ आवंटन तय किया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!