Breaking Newsदिल्ली

कोरोना वायरस से हो सकती थी अब तक 78,000 मौतें,लेकिन हमने नहीं लांघी लक्ष्मण रेखा

कोरोना वायरस से निपटने और लॉकडाउन की स्थिति को लेकर शुक्रवार को स्‍वास्‍थ्‍य और गृह मंत्रालय की संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस हुई। एम्पावर्ड ग्रुप 1 के अध्‍यक्ष डॉ.वी.के पॉल ने कहा कि कई मॉडल से ये बात सामने आ रही है कि कोरोना वायरस से 37,000-78,000 मौतें हो सकती थीं। 14.29 लाख मामले हो सकते थे, लाखों मामले नहीं फैले क्योंकि हमने फैसला किया कि हम घर की लक्ष्मण रेखा को पार नहीं करेंगे। आज 10 करोड़ से भी ज़्यादा लोग आरोग्य सेतु से जुड़ गए हैं। उन्‍होंने कहा कि कोरोना वायरस मामलों की वृद्धि दर में 3 अप्रैल, 2020 से लगातार गिरावट देखी जा रही है, जब लॉकडाउन विकास की गति पर ब्रेक लगाने में सक्षम था। आज मामलों की संख्या बहुत अधिक होती, लॉकडाउन लागू नहीं किया गया था।

Back to top button