खेल

सीडब्ल्यूजी: सिंधु, श्रीकांत ने अपने-अपने एकल मैच में जीत दर्ज की

बर्मिघम, 4 अगस्त राष्ट्रमंडल गेम्स 2002 के प्रतियोगिताओं में सातवें दिन भारतीय एथलीटों ने अच्छी शुरुआत की. दो बार के ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधु और पूर्व विश्व नंबर 1 किदांबी श्रीकांत ने क्रमश: महिला और पुरुष एकल में अगले राउंड में प्रवेश किया, जबकि ट्रैक और फील्ड एथलीट मंजू बाला (हैमर थ्रो) और स्प्रिंटर हिमा दास (महिला 200 मीटर) ने अपनी-अपनी स्पर्धाओं में जीत हासिल की. शाम को लंबी कूद के खिलाड़ी मुरली श्रीशंकर और मोहम्मद अनीस याहिया फाइनल में पहुंचे, जिसके बाद तेजस्विन शंकर ने बुधवार को ऊंची कूद में कांस्य पदक अपने नाम किया.

श्रीशंकर का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ 8.36 मीटर है. उन्होंने क्वालीफाइंग दौर में ग्रुप ए में 8.05 की छलांग के साथ शीर्ष स्थान हासिल किया, जबकि मोहम्मद अनीस 7.88 मीटर के प्रयास के साथ आठवें स्थान पर रहे.

सिंधु ने गुरुवार को यहां राष्ट्रीय प्रदर्शनी केंद्र (एनईसी) में 32 मैच के राउंड में मालदीव के फातिमथ नबाहा अब्दुल रज्जाक के खिलाफ 2-0 की व्यापक जीत के साथ अगले दौर में पहुंच गईं.

यहां की शीर्ष वरीयता प्राप्त सिंधु ने पहले ही मिश्रित टीम प्रतियोगिता में भारत को रजत जीतने में मदद की है. उनको मालदीव की अपनी 23 वर्षीय प्रतिद्वंद्वी को 21-4, 21-11 से हराने में ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं पड़ी.

सिंधु 2018 में गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में महिला एकल में जीते गए रजत में स्वर्ण पदक जोड़ने की उम्मीद कर रही हैं.

2018 में पुरुष एकल में रजत पदक जीतने वाले श्रीकांत ने दूसरे दौर के मैच में युगांडा के डेनियल वनागलिया के खिलाफ 21-9, 21-9 से जीत के साथ व्यक्तिगत स्पर्धाओं में अपने अभियान की शुरूआत की.

श्रीकांत को पहले दौर में बाई मिली थी और अब वह श्रीलंका के डी. अबेविक्रमा और माल्टा के कैसर एस के बीच शाम को खेले जाने वाले मैच के विजेता से भिड़ेंगे.

इस बीच, अलेक्जेंडर स्टेडियम में, पूर्व युवा ओलंपिक खेलों की पदक विजेता हिमा दास ने महिलाओं की 200 मीटर में 23.42 सेकंड में हीट 1 में शीर्ष स्थान हासिल किया और सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया.

महिला हैमर थ्रो में भारतीय महिला मंजू बाला ने 6 अगस्त को होने वाले फाइनल के लिए क्वालीफाई करने के लिए 59.68 मीटर की दूरी तय की. हमवतन सरिता रोमित सिंह 57.48

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button