छत्तीसगढ़Nationalकॉर्पोरेट

IIT Bhilai ने बनाया सबसे सस्ता सोलर पैनल, बाइक की कोटिंग को इलेक्ट्रोड फ़िल्म में बदलने की तैयारी

IIT Bhilai के प्रोफेसरों ने सोलर एनर्जी के क्षेत्र में एक नया अविष्कार किया है. बढ़ती जनसँख्या और बिजली की खपत के कारण अब देश में ऊर्जा के वैकल्पिक साधनों की तलाश की जा रही है. इसके लिए सोलर एनर्जी एक सस्ता और उपयोगी माध्यम बनकर सामने आया है. छत्तीसगढ़ के रायपुर में स्थित IIT भिलाई ने इस बात को ध्यान में रखते हुए एक हैंडी सोलर पैनल का निर्माण किया है. जो अब बाजारों में भी उपलब्ध हो सकेगा.

सामान्य सोलर पैनल की तुलना में 15 प्रतिशत अधिक कार्यशील इसके कार्यक्षमता की बात करें तो वर्तमान में उपलब्ध सामान्य सोलर पैनल की तुलना में इसकी दक्षता 15 फीसदी अधिक है. साथ ही प्रोफेसरों ने बाकी महंगे सोलर पैनल की तुलना में इसकी कीमत भी कई गुना कम कर दी है. रायपुर में स्थित IIT भिलाई के कुछ प्रोफेसरों ने मिलकर यह सस्ता और किफायती हैंडी सोलर किट तैयार किया गया है.

यह सोलर पैनल बाकी बड़े पैनलों की तरह नहीं होगा बल्कि यह एक छोटा सा हैंडी सोलर पैनल हयोग. जिसे किसी भी स्थान पर आसानी से उपयोग किया जा सकेगा. इस सोलर पैनल को आप डिश एंटीना की तरह घर के खिड़की दरवाजे के ऊपर कारों की छतों पर भी लगाया जा सकता है. कार की खिड़कियों में लगे कांच में भी विंडस्क्रीन की तरह इसे उपयोग किया जा सकता है.

Aamaadmi Patrika

इस प्रोजेक्ट के लिए आईआईटी भिलाई को केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने करीब एक करोड़ 93 लाख रुपए का अनुदान भी दिया है. इस पूरे रिसर्च कार्यक्रम को “नॉमिनेशन योजना” का नाम दिया गया है. इस रिसर्च के लिए आईआईटी भिलाई के प्रोफेसरों ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया. सौर ऊर्जा की लगातार मांग को देखते हुए आईआईटी के डॉक्टर धृति सुंदर घोष के नेतृत्व में डॉ संजीव बनर्जी, डॉ. निखिल चंद्र, डॉ. सत्यजीत गुप्ता और डॉ सौम्या गंगोपाध्याय ने सोलर पैनल का निर्माण पूरा किया है.

इन प्रोफेसरों ने वाहनों को सोलर एनर्जी के लैस करने के लिए. फोटोवाल्टिक फ़िल्म के रूप में बदलने की योजना तैयार की है. IIT भिलाई के प्रोफेसरों के अनुसार वाहनों में जो पेंट के ऊपर लगी होती है. वाहन सूर्य की किरणों से गर्म होता है. अब इसका उपयोग एनर्जी पैदा करने के लिए पारदर्शी फोटोवॉल्टिक फिल्म बनाया जा रहा है. जिसे वाहनों में लगाकर, इलेक्ट्रोड की तरह उपयोग किया जाएगा. इसके अलावा कार की विंडस्क्रीन की तरह भी उपयोग में लाया जा सकेगा. इससे आसानी से बिजली मिल सकेगी इसके लिए पारदर्शी इलेक्ट्रोड बनेगा.

शहरों में लगाई जाएगी प्रदर्शनी रायपुर सहित अन्य जिलों में किया जाएगा प्रदर्शन आईआईटी भिलाई में बनाए गए, हैंडी सोलर पैनल का आने वाले दिनों में छत्तीसगढ़ के दुर्ग, भिलाई, रायपुर, बिलासपुर जैसे बड़े शहरों में प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी, ताकि आम लोगों तक इसे आसानी से पहुंचाया जा सके. इससे पहले इसे लैब में एक बार पूरी तरह से इसे टेस्ट किया जाएगा. सफल होने के बाद ही लोगों के बीच में इसे लाया जाएगा, जिससे उनकी जानकारी आम लोगों को मिल सके.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!