छत्तीसगढ़

कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य से सुसाइड नोट में तीन को बताया दोषी

नागरिक कल्याण कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य डॉ. भुवनेश्वर नायक की मौत के बाद मिले सुसाइड नोट से साफ हो गया है कि उन्हें आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया गया है। पुलिस को जो सुसाइड नोट मिला है उसमें तीन लोगों का नाम लिखा है। बताया जा रहा है कि ये तीनों उसी कॉलेज के स्टाफ हैं। डॉ. नायक ने लिखा है कि इन्हीं तीन लोगों के प्रताड़ित करने से खुदकुशी कर रहे हैं। पुलिस ने अभी यह बताने से इनकार किया है कि सुसाइड नोट में किन लोगों के नाम लिखे हैं और क्या आरोप हैं। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस डॉ. नायक का शव परिजन को सौंप दिया है। परिजन शव लेकर गृह ग्राम सरायपाली पहुंचे, जहां उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Back to top button