छत्तीसगढ़

अमेरिका में छत्तीसगढ़ियों की ‘इंडिया डे परेड’:’ए पान वाले बाबू’ पर पारंपरिक वेशभूषा में थिरके कदम; शिकागो की सड़कों में गूंजा-भारत माता की जय

रायपुर की गलियों में बीते 3-4 दिनों से माहौल देश भक्ति से लबरेज है. वैसा ही अमेरिका में भी है. रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग जैसे शहरों के वो लोग जो अमेरिका में बसे हैं, उन्होंने वहां स्वतंत्रता दिवस सेलिब्रेट किया. शिकागो की गलियों में इंडिया डे परेड निकाली गई. इस दौरान छत्तीसगढ़ के लोग ए पान वाला बाबू गाने पर डांस करते दिखे. ओपन ट्रक में छत्तीसगढ़ की झांकी तैयार की गई. इसमें NRI महिलाएं छत्तीसगढ़ी लुगरा (साड़ी) पहने पारंपरिक सिक्कों की माला गले में सजाए थिरकती नजर आ रही थीं.

अमेरिका में हुए इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व उत्तरी अमेरिका छत्तीसगढ़ एसोसिएशन (NACHA) ने किया. शिकागो अमेरिका में ‘भारत दिवस परेड 2022’ कार्यक्रम में NACHA के सभी सदस्य छत्तीसगढ़ी पारंपरिक वेशभूषा में नजर आ रहे थे. वंदे मातरम्, भारत माता की जय और छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया की गूंज अमेरिकन गलियों में सुनाई दी.

नाचा से जुड़े गणेश कर ने बताया कि अमेरिका में हम स्वतंत्रता दिवस की तैयारियां सप्ताह भर पहले से शुरू कर देते हैं. यहां हम इंडिया वीक मनाते हैं. आजादी के अमृत महोत्सव का जश्न 7 दिनों तक चला. विदेशी सरजमीं पर देशभक्ति के दीप लिए सभी प्रवासी भारतीय छत्तीसगढ़ के ब्रांड एंबेस्डर है. एनआरआई महिलाओं ने छत्तीसगढ़ी गीतों ‘छत्तीसगढ़ ल कइथे दीदी धान का कटोरा’ और ‘ए पान वाले बाबू’ जैसे गानों पर डांस की प्रिपरेशन की थी.

अमेरिकन फ्लैग के साथ तिरंगा
नाचा के सदस्यों ने बताया राष्ट्र ध्वज तिरंगा हर एक भारतीय की आन-बान और शान का प्रतीक है. कार्यक्रम में अमेरिकन झंडे के साथ तिरंगा ध्वज भी अमेरिका और भारत के रिश्तों की खूबसूरती को दिखा रहा था. NACHA के सदस्य भले ही सात समंदर पार रह रहे है, लेकिन दिल अपनी मातृभूमि के लिए धड़कता है.

संस्कृति को सहेजने का संदेश
अमेरिका की लाइफ स्टाइल में रहने वाली महिलाएं कार्यक्रम में पारंम्परिक वेशभूषा में संस्कृति को सहेजने का सन्देश देती दिखीं. महिलाओं ने गले मे कटली मोहर,कान में खुटी,हाथ और भुजा में नागमोरी बहुटा पहुची और कलाई में आईठी चुरिअ,माथे पर बिंदी लगाकर छत्तीसगढ़ महतारी के प्रति अपनी अपार श्रद्धा, प्रेम भाव व्यक्ति किए.

इस परेड में NRI के 100 से भी ज्यादा एसोसिएशन शामिल होते हैं.सभी की अपनी भव्य झांकिया होती हैं. कई अमेरिकी एसोसिएशन भी इस कार्यक्रम में शामिल होते हैं. भव्य परेड में छत्तीसगढ़ की संस्कृति की झलक को अमेरिकन लोगों ने भी जाना और सराहा. शिकागो में रहने वाले छत्तीसगढ़ के प्रवासी भारतीय,गणेश कर,दीपाली सरावगी,रागिनी साहू,ब्रजेश साहू,तीजेंद्र साहू,अभिजीत जोशी,सोनू जोशी,आदित्य वेंकट,नितिन बिलकर,माही लालवानी,लक्ष्मी लालवानी,खुशबू बंसल,प्रशांत गुप्ता,अहंकार फटवानी, शशि साहू,वरुण और आकांक्षा इस परेड में शामिल हुए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button