छत्तीसगढ़

स्वस्थ शरीर एवं संयमित जीवन के लिए योग का विशेष महत्व है: महंत रामसुंदर दास

रायपुर. आठवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आज यहां रायपुर के दूधाधारी मठ परिसर में छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष डाँ. महंत रामसुंदर दास के मुख्य आतिथ्य में जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित हुआ. “मानवता के लिए योग” की  थीम पर आधारित कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में नगर निगम रायपुर के सभापति प्रमोद दुबे शामिल हुए. 

Aamaadmi Patrika

 कार्यक्रम की शुरुआत राजगीत से हुई. स्कूली छात्र-छात्राएं,  शिक्षक-शिक्षिकाएं, नेहरू युवा केंद्र के पदाधिकारी एवं आम नागरिक बड़ी संख्या में योगाभ्यास में शामिल हुए. डाँ. महंत ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं देते हुए उपस्थित छात्र-छात्राओं को नियमित योगाभ्यास के लिए प्रेरित किया. उन्होंने कहा कि स्वस्थ शरीर एवं संयमित जीवन के लिए योग का विशेष महत्व है. योग से शारीरिक एवं मानसिक क्षमता में वृद्धि होती है. श्री प्रमोद दुबे ने कहा कि योग के माध्यम से हम शारीरिक व्याधियों को दूर कर सकते हैं, हमें योग्य प्रशिक्षक के मार्गदर्शन में नियमित योगाभ्यास  करना चाहिए.

Aamaadmi Patrika

    कार्यक्रम में योग प्रशिक्षकों द्वारा सामने की ओर झुक कर करने वाले आसन जैसे पश्चिमोत्तानासन, पादहस्तासन, पीछे झुककर किए जाने वाले आसन चक्रासन, बैठकर किए जाने वाले आसन पद्मासन, लेट के किए जाने वाले आसन मकरासन, खड़े होकर किए जाने वाले आसन ताड़ासन, वृक्षासन सहित  अन्य आसनों का अभ्यास योग प्रोटोकॉल के अनुसार कराया गया. योग प्रशिक्षकों ने योग के महत्व , उसकी उपयोगिता एवं सावधानी के बारे में विस्तार से जानकारी दी. यह भी बताया गया कि योग मानसिक शांति के लिए कितना आवश्यक है.

  समाज कल्याण विभाग के संयुक्त संचालक भूपेंद्र पांडे ने आभार व्यक्त करते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य योग आयोग द्वारा  योग का निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है. कार्यक्रम में योग आयोग के प्रशिक्षकों का सम्मान  किया गया. इस अवसर पर समाज कल्याण विभाग के अधिकारी कर्मचारी व बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button