छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ की संस्कृति को सहेजेंगे हमारे कलाकार, ये नाम शामिल

छतीसगढ़ की संस्कृति को सहेजने में छत्तीसगढ़ के कलाकारों का बड़ा योगदान रहेगा। इसकी सूची जारी की गई है।

यह नाम है शामिल
साहित्य में अंबिकापुर के विजय गुप्त, आदिवासी लोककला में भूपेश तिवारी, कोंडागांव, चित्रकला मूर्तिकला में भिलाई की सुनीता वर्मा, नाटक के लिए भूपेंद्र साहू रायपुर, शास्त्रीय लोक संगीत ममता चंद्राकर, नृत्य में कालीचरण यादव बिलासपुर, वासंती वैष्णव रायगढ़। संस्कृति परिषद में बस्तर के सांसद दीपक बैज को भी सदस्य बनाया गया है। इनके अलावा साहित्य अकादमी के लिए ईश्वरसिंह दोस्त, पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी पीठ के लिए भिलाई के ललित कुमार, श्रीकांत वर्मा पीठ के लिए बिलासपुर के रामकुमार तिवारी, आदिवासी एवं लोक कला अकादमी के सदस्य अंबिकापुर से नवल शुक्ल और योगेंद्र त्रिपाठी, भिलाई के नाम हैं। अध्यक्ष CM बघेल ने 2 सदस्यों को अपनी ओर से मनोनीत किया है। उनमें विनोद वर्मा और आर्ट डायरेक्टर जयंत देशमुख शामिल है।

Back to top button