दुनियाNationalकॉर्पोरेट

Parag Aggrwal को CEO के पद से Elon Musk ने Twitter खरीदने के बाद किया बर्खास्त

टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने ट्विटर पर नियंत्रण कर लिया है. इसके बाद उन्होंने कंपनी के सीईओ पराग अग्रवाल सहित कई शीर्ष अधिकारियों को निकाल दिया है. समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल, कानूनी, नीति और ट्रस्ट के प्रमुख विजया गड्डे, मुख्य वित्तीय अधिकारी नेड सेगल सहित अन्य कुछ शीर्ष अधिकारी को उन्होंने बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

सूत्रों ने रॉयटर्स को बताया कि जब नेड सहगल और पराग अग्रवाल को ट्विटर से बाहर निकालने का निर्णय किया गया, उस समय दोनों सैन फ्रांसिस्को मुख्यालय में मौजूद थे.

आपको बता दें कि एलन मस्क ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फेक अकाउंट की संख्या को लेकर पराग अग्रवाल सहित वरिष्ठ अधिकारियों और ट्विटर के निवेशकों को गुमराह करने का आरोप लगाया था.

इससे पहले मशहूर उद्योगपति एलन मस्क ने सोशल मीडिया मंच ट्विटर मुख्यालय में टहलते हुए अपना एक वीडियो साझा किया था. उन्होंने ट्वीटर को 44 अरब डॉलर में खरीदने के समझौते को पूरा करने के लिए शुक्रवार की समयसीमा से दो दिन पहले बुधवार को यह वीडियो साझा किया. मस्क ने अपनी ट्विटर प्रोफाइल में भी बदलाव किया है और अपने निजी विवरण में ‘ट्वीट प्रमुख’ लिखा है. उन्होंने अपनी प्रोफ़ाइल पर अपने स्थान को भी बदलकर ट्विटर मुख्यालय कर दिया है.

मस्क को वीडियो में मुख्यालय के परिसर में एक ‘सिंक’ ले जाते हुए देखा जा सकता है. उल्लेखनीय है कि एक अदालत ने मस्क को ट्वीटर के अधिग्रहण के समझौते को पूरा करने के लिए शुक्रवार तक का समय दिया है. इससे पहले मस्क ने इस समझौते से पीछे हटने की कोशिश की थी. हालांकि, मस्क और ट्विटर ने समझौते के पूरा होने को लेकर अभी तक कुछ नहीं कहा है. मस्क के मुख्यालय में पहुंचने के बावजूद यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि समझौते को अंतिम रूप दे दिया गया है या नहीं.

सौदा पूरा होने से एक दिन पहले, एलन मस्क ने ट्विटर मुख्यालय का दौरा किया और अपने बायो को ‘चीफ ट्विट’ में बदल दिया था. उन्होनें कहा कि ट्विटर स्पष्ट रूप से एक फ्री-फॉर-ऑल हेलस्केप नहीं बन सकता है, जहां बिना किसी परिणाम के कुछ भी कहा जा सकता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!