National

भारत की आजादी के 100वें साल के लिए PFI रच रहा था खतरनाक साजिश, ‘प्लान 2047’, ऐसे हुआ खुलासा

नई दिल्ली। भारत की आजादी के 100वें साल के लिए पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) एक खतरनाक साजिश रच रहा था. एटीएस सूत्रों के मुताबिक मुंबई से पकड़े एक पीएफआई के एक आदमी ने इस सीक्रेट प्लान का खुलासा किया है.

एटीएस सूत्रों ने बताया कि मुंबई समेत महाराष्ट्र में एटीएस ने PFI के करीब 20 लोगों को गिफ्तार किया गया है. इन्ही में से एक है मजहर खान. कुर्ला के कुरैशी नगर में रहने वाला मजहर खान वैसे तो साउंड प्रूफिंग का काम करता है लेकिन ये PFI के सबसे बड़े प्लान पर काम कर रहा था. इसका नाम है ‘प्लान 2047’.

एटीएस के हाथ लगी ‘2047’ बुकलेट

एटीएस ने जब मजहर खान के घर पर दबिश की तो उनके हाथ एक बुकलेट लगी. इस बुकलेट का नाम है ‘2047’. ये बुक PFI की आने वाले 25 सालों की प्लानिंग, आपरेशन और शरीयत लॉ से जुड़ी है. आने वाले 25 साल मतलब साल 2047, यानि भारत की आजादी का 100वां साल.

‘2047 में भारत को इस्लामिक राष्ट्र’

बताया जा रहा है कि इस बुकलेट में साफ तौर पर लिखा है कि साल 2047 में जब देश की आजादी के 100 साल पूरे होंगे तो PFI को देश भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाना है. इस किताब के कई वॉल्यूम है और उन्हीं में से एक वॉल्यूम एटीएस को मजहर खान के घर से बरामद हुआ है.

मजहर को हर महीने दस हजार रुपये देता था PFI

मजहर खान को PFI हर महीने फंड के तौर पर 10 हजार रुपए देती है. एटीएस सूत्रों के मुताबिक मजहर खान को कुछ साल पहले पैरालिसिस स्ट्रोक आया था. जिसके बाद PFI उसे हर महीने 10 हजार रुपए फंड के तौर पर दे रही थी ताकि वो PFI के कैडर आपरेशन को बढ़ाता रहे.

54 साल का मजहर खान पहले सिमी से जुड़ा था लेकिन जब सिमी को बैन किया गया तो वो PFI के केरल मॉडल के साथ जुड़ गया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button