छत्तीसगढ़

झूठी कहानी का अंत: फर्जी शिकायत पर दर्ज होगा केस, ऐसे रची साजिश

रायपुर में सोमवार को हुई लूट की वारदात में बड़ा खुलासा हुआ। जिस शख्स ने लूट की शिकायत करवाई थी। वही इस वारदात का मास्टरमांइड निकला। इस शख्स पर अब पुलिस फर्जी शिकायत करने का केस दर्ज करेगी। अपने साथ लूट का दावा करने वाले 10 लाख रुपए की लूट का दावा किया था। आरोपी रायपुर की एक रियल स्टेट कंपनी में कैशियर कर काम करता है।
सोमवार काे गंज थाने में जाकर आकाश यादव ने पुलिस से कहा कि वो राधे कृष्णा रियल स्टेट डेवल्पर्स कम्पनी में कैशियर है। गुढ़ियारी में कंपनी का दफ्तर है वो कंपनी का कैश लाने और ले जाने का काम करता है। कंपनी के मालिक कान्हा शर्मा (बजारी) और शरद शर्मा हैं। कान्हा के दिए कैश करीब 10 लाख रुपयों को लेकर सोमवार को आकाश निकला। ये रकम बैंक में जमा करनी थी। आकाश ने पुलिस ने कहा कि मैं चूनाभट्ठी के सामने एक्सप्रेस-वे सर्विस रोड से जा रहा था कि सामने से आए दो बाइक सवारों ने मुझे पीटा.
उनका एक और साथ बाइक से आया। तीनों ने मुझे खूब पीटा और मेरे पास मौजूद कैश और मेरा मोबाइल फोन लेकर भाग गए। इसकी बातों में आकर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया और छानबीन शुरू हुई।

सिटी एसपी तारकेश्वर पटेल ने बताया कि जांच में देखा गया कि जिस जगह से आकाश ने लूट होने का दावा कियां वहां के CCTV फुटेज में ऐसा कुछ भी नहीं दिखा। लोगों से पूछताछ की गई मगर कोई जानकारी नहीं मिली। आकाश ने लूट में तीन लोगों के शामिल होने का दावा किया। पुलिस ने जब पूछा कि वो लोग किस तरफ गए गाड़ी कौन सी थी। इस पर आकाश अलग-अलग जवाब देने लगा। पुलिस समझ गई और आकाश भी कि अब ये खेल ज्यादा देर नहीं चल सकेगा।
साजिश:रायपुर में रियल स्टेट कंपनी के कैशियर ने भतीजे को थमाई रकम, फिर सुनाई झूठी कहानी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button