छत्तीसगढ़

बेरोजगारी के आंकड़े झूठे हैं, जिसे लेकर राज्य सरकार अपनी पीठ थपथपा रही: बृजमोहन

रायपुर. छत्तीसगढ़ में सबसे कम बेरोजगारी के दावे पर पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने निशाना साधा। उन्होंने कहा कि, जिन आंकड़ों को लेकर राज्य सरकार अपनी ही पीठ थपथपा रही है, वे झूठे हैं, बेबुनियाद हैं। समाचार पत्रों के माध्यम से ये जगजाहिर हो चुका है कि 1% जनता केवल 91 प्यून के पदों पर आवेदन करती है और मुख्यमंत्री जी कह रहे है कि बेरोजगारी दर 0.4% है।

अग्रवाल ने यह भी कहा कि रोजगार कार्यालय इस दावे की पोल खोल रहे हैं, जहां 21 लाख बेरोजगारों ने अपना रजिस्ट्रेशन कराया है। पूर्व मंत्री ने आरोप लगाया कि होर्डिंग्स में 5 लाख लोगों को रोजगार देने का दावा किया। मगर विधानसभा में पूछे गए प्रश्नों के जवाब में सिर्फ 35,981 सरकारी नौकरियों की स्वीकृति हुई तथा 18,199 लोगों की नियुक्ति कर उन्हें रोजगार देने की बात कही गयी।

सरकारी उत्कृष्ट विद्यालय में भी शिक्षक भर्ती के लिए एक-एक पद लिए सैकड़ों उम्मीदवार पहुंचे। इधर रायपुर के आत्मानंद स्कूल में 27 पदों पर भर्ती के लिए प्रदेशभऱ से उम्मीदवार पहुंचे, तो अंबिकापुर के राजमाता देवेंद्र कुमारी सिंहदेव शासकीय मेडिकल कॉलेज में तृतीय व चतुर्थ वर्ग के 445 पदों के लिए करीब 50 हजार आवेदन आए हैं। यानी एक-एक पद लिए 100-100 उम्मीदवार लाइन में हैं।

ये सरकार केवल झूठ बोलने व वादाखिलाफी करने में माहिर है इसे जनता के विकास कार्यों में कोई दिलचस्पी नहीं है। बेरोजगारी इस राज्य में अपनी चरम सीमा पर है किंतु यह अपने झूठे आंकड़ो से अपनी नाकामियों को छुपाने के प्रयत्न कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button