दिल्ली

भारत गौरव पर्यटक ट्रेन से तीर्थ स्थलों के दर्शन महंगे हुए

नई दिल्ली. देश के मध्यम वर्ग के तीर्थ यात्रियों के लिए पर्यटक ट्रेन से रामायण सर्किट पर भगवान श्रीराम से जुड़े स्थलों के दर्शन करना महंगा हो गया है. दरअसल, रेलवे ने लगभग डेढ़ दशक से चल रही भारत दर्शन पर्यटक ट्रेन बंद कर दी है और इसकी जगह भारत गौरव पर्यटक ट्रेन शुरू की है. इसमें स्लीपर और एसी श्रेणी का किराया अपेक्षाकृत दोगुना है, जबकि यात्रा पैकेज में यात्रा के दिन, रोलिंग स्टॉक (इंजन-डिब्बे), खानपान और अन्य सुविधाएं लगभग पुरानी ट्रेन के समान हैं.
रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारत गौरव पर्यटक ट्रेन से 18 दिन की यात्रा में शयनयान श्रेणी का किराया लगभग 32 हजार रुपये व एसी-3 का किराया 62 हजार रुपये प्रति व्यक्ति है. जबकि भारत दर्शन पर्यटन ट्रेन (वर्ष 2021-22) में शयनयान श्रेणी का किराया 16,200और एसी-3 का किराया 27 हजार रुपये प्रति व्यक्ति था. बता दें कि वर्ष 2006-07 में भारत दर्शन ट्रेन में शयनयान श्रेणी का किराया नौ हजार रुपये (18 दिन) था.
रियायत दे सरकार
दिल्ली में किराड़ी, नागलोई के रहने वाले जय प्रकाश (69 वर्ष) अपने 20 साथियों के साथ 2015 में भारत दर्शन पर्यटक ट्रेन से तीर्थ स्थलों का भ्रमण कर चुके हैं. भारत गौरव ट्रेन का किराया दोगुना होने पर वह कहते हैं कि सरकार को बुर्जगों को रियायात पर तीर्थ यात्रा करानी चाहिए. अधिकांश बुर्जुग पेंशन या परिवार पर निर्भर होते हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button