छत्तीसगढ़

योग साधकों ने अनूठे अंदाज में मनाया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का जन्मदिन

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के जन्म दिवस पर योग साधकों ने आज अनूठे अंदाज में योग सत्र का आयोजन कर उनके दीर्घायु जीवन की कामना की. बूढ़ातालाब परिसर एवं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के विशाल सभागार में एक हजार से भी अधिक योग साधकों ने हास्य व क्रिया योग के माध्यम से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सेवा व संकल्पों को सराहा.

इन योग शिविरों का आयोजन छत्तीसगढ़ योग आयोग, रायपुर जिला समाज कल्याण विभाग व इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय ने किया. इन योग शिविरों की मेज़़बानी करते हुए योग आयोग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा ने कहा कि योग की महत्ता जुड़ाव से है एवं मुख्यमंत्री श्री बघेल की प्रेरणा से लोक-कला, संस्कृति, खेत, खेल, शिक्षा, गांव, गौठान से सभी की समीपता से छत्तीसगढ़ की पहचान पूरे विश्व में आलोकित हो रही है. इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में विधायक ग्रामीण सत्यनारायण शर्मा, कृषक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष सुरेन्द्र शर्मा, इंदिरा कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल, समाज कल्याण विभाग के संयुक्त संचालक भूपेन्द्र पाण्डेय भी विशेष रूप से सम्मिलित हुए.

बूढ़ातालाब के मुक्ताकाश में आयोजित योग शिविर में हास्य योग के प्रेरक मूलचंद शर्मा, पर्यटन मंडल के उपाध्यक्ष चित्रलेखा साहू, दीनानाथ शर्मा विशेष रूप से शामिल हुए. योग के विभिन्न आयामों की चर्चा करते हुए योग आयोग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा ने योग को बढ़ावा देने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के सद्प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि उनकी प्रेरणा से संपूर्ण छत्तीसगढ़ में योगमय वातावरण निर्मित हुआ है.

उन्होंने आगे कहा कि कोरोना जैसी विषम परिस्थिति में स्वस्थ्य व सुगम जीवन जीने का सबसे बड़ा माध्यम योग बना. मुख्य योग प्रशिक्षक छबिराम साहू एवं ज्योति साहू ने योग साधकों को प्रशिक्षित किया एवं योग के लाभ से अवगत कराया.

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के सभागार में योग साधकों ने प्रशिक्षकों की उपस्थिति में योगाभ्यास किया. स्कूली छात्र-छात्राओं के योगासनों की प्रस्तुति ने उपस्थित जनों को मंत्रमुग्ध व अचंभित किया. इस अवसर पर अपने उद्बोधन में विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा ने योग के घर-घर तक विस्तार के लिए छत्तीसगढ़ योग आयोग व समाज कल्याण विभाग की मुक्तकंठ सराहना की, उन्होंने कहा कि ऐसे सद्प्रयासों से स्वास्थ्य जागरूकता व संस्कारित जीवन की प्रेरणा मिलती है. 

कृषक कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष सुरेन्द्र शर्मा ने कहा कि योग की ज्योति हर घर तक पहुंचे, उसके लिए मुख्यमंत्री श्री बघेल व अध्यक्ष श्री शर्मा के प्रयासों से राज्य में सराहनीय प्रयास हो रहे है. उन्होंने आगे कहा कि योग की सोच लेकर जन सेवा में जुटे मुख्यमंत्री श्री बघेल ने गांव से किसानों को, लोक-कला से लोक कलाकारों को, शिक्षा से समाज को, खेल से युवाओं को जोड़ने का संकल्प लेकर कार्य कर रहे है. कुलपति डॉ. चंदेल ने इस आयोजन में सहभागिता के लिए योग आयोग के प्रति आभार ज्ञापित किया एवं युवाओं को योग से जोड़ने राज्य में किए जा रहे प्रयासों के लिए समाज कल्याण विभाग के भूमिका की सराहना की. सभी ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल को दीर्घायु व स्वस्थ्य जीवन के साथ छत्तीसगढ़ के स्वाभिमान के ध्वज वाहक बने रहने की शुभकामनाएं दीं. इस योग सत्र में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के प्रशासनिक अधिकारी, संचालकगण, अधिष्ठाता, विभागाध्यक्ष, प्राध्यापकगण, कर्मचारीगण एवं छात्र-छात्राएं सम्मिलित हुए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!