NationalBollywood

आर्मी का मज़ाक उड़ाते रिचा चड्ढा का ट्वीट देख भड़के अक्षय कुमार

Galwan Says Hi, आज सुबह से रिचा चड्ढा [Richa Chaddha] का ये ट्वीट हर किसी का खून खौला रहा है और लोग उन्हें जमकर लताड़ रहे हैं. अब रिचा चड्ढा को लताड़ने वालों में शामिल हो चुके हैं एक्टर अक्षय कुमार. अक्षय कुमार ने रिचा चड्ढा के ट्वीट पर जवाब देते हुए उन्हें सरे आम खरी खोटी सुनाई. अक्षय कुमार के इस ट्वीट को काफी समर्थन मिल रहा है.

रिचा चड्ढा के ट्वीट पर जवाब देते हुए अक्षय कुमार ने लिखा – ये पढ़कर दिल दुखता है. दुनिया में कुछ भी ऐसा नहीं हो सकता है जो हमें इतना अहमक बना दे कि हम अपनी भारतीय सेना के बलिदान और जज़्बे को सम्मान देना भूल जाएं. वो हैं तो आज हम हैं.

गौरतलब है कि रिचा चड्ढा ने आज उस ट्वीट पर रिएक्ट किया था जहां एक आर्मी ऑफिसर ने बयान दिया था कि भारतीय सेना पाकिस्तान का भारत से हड़पा हुआ कश्मीर जिसे PoK यानि कि Pakistan Occupied Kashmir कहा जाता है, वापस लेेने को तैयार है. इस पर भारतीय सेना का मज़ाक उड़ाते हुए रिचा चड्ढा ने लिखा – Galwan Says Hi. वो भारतीय सेना को याद दिलाना चाह रही थीं कि किस तरह वो गलवान घाटी का युद्ध बुरी तरह हारे थे.

बता दें कि उत्तरी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने एक ट्वीट किया था जिसपर ऋचा बीच में कूद पड़ीं. उपेंद्र द्विवेदी ने ट्वीट कर कहा था-‘हम अगर सरकार आदेश देती है तो हम PoK को वापस लेने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. हम सरकार की तरफ से आदेश का इंतजार कर रहे हैं. हम जल्द ही इस ऑपरेशन को पूरा करेंगे. इससे पहले कि पाकिस्तान सीजफायर का उल्लंघन करे, इधर से जवाब अलग होगा, जिसके बारे में वो इमैजिन भी नहीं कर सकते.’ उनके इसी ट्वीट पर ऋचा चड्ढा ने रिएक्ट करते हुए लिख दिया था कि ‘गलवान हाय बोल रहे हैं.’ ऋचा का यह ट्वीट तुरंत वायरल हो गया और लोगों ने जमकर इस ट्वीट पर गुस्सा जाहिर किया.

ट्विटर पर लोगों ने ऋचा को खूब घेरा और उनपर भारतीय सेना का अपमान करने का आरोप लगाया. धीरे-धीरे फिल्म स्टार्स भी ऋचा के इस ट्वीट के खिलाफ ट्विटर पर उतर रहे हैं. इतनी ही नहीं इस मामले में उनके खिलाफ दिल्ली पुलिस की साइबर सेल में शिकायत तक दर्ज हो चुकी है. बढ़ते हुए विवाद को देखकर ऋचा चड्ढा ने अपने इस ट्वीट के लिए माफी भी मांगी है. उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा-‘मेरी मंशा कभी भी किसी को भी अपमानित करने की नहीं रही. मुझे मेरे कहे तीन शब्दों के कारण विवाद में घसीटा गया. जाने-अनजाने मेरे द्वारा कहे गए शब्दों से अगर मेरे फौजी भाइयों की भावनाएं आहत हुई हों या ठेस पहुंची हो तो मैं माफी मांगती हूं. साथ ही मैं यह भी कहना चाहती हूं कि फौज में मेरा नानाजी भी रहे. मेरे मामाजी पैराट्रूपर थे. देशभक्ति मेरे खून में है. देश को बचाने के दौरान जब एक बेटा शहीद हो जाता है तो परिवार बुरी तरह प्रभावित होता है. अगर कोई फौजी घायल होता है तो भी कैसा प्रभाव पड़ता है, यह मैं अच्छी तरह जानती हूं. मेरे लिए भी यह एक भावनात्मक मुद्दा है.’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!