छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सबसे लोकप्रिय:सर्वे में कहा गया; आम लोगों को सीधा फायदा पहुंचाने वाली न्याय योजनाओं के कारण मिली लोकप्रियता

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पांच राज्यों में सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री माना गया है. सी-वोटर का यह सर्वे उन पांच राज्यों में किया गया, जहां आगामी महीने में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. सर्वे में कहा गया कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को इतनी लोकप्रियता आम लोगों को सीधा फायदा पहुंचाने वाली न्याय योजनाओं के कारण मिली है.

इन योजनाओं में राजीव गांधी किसान न्याय योजना शामिल है, जिसके तहत फसलों पर इनपुट सब्सिडी दी जा रही है. इस योजना में अब तक करीब 22 हजार करोड़ रुपए की इनपुट सब्सिडी दी जा चुकी है. 24.30 लाख किसान लाभान्वित हो रहे हैं. पिछले साल 107.53 लाख टन धान खरीदने के बाद इस साल 125 लाख टन का लक्ष्य रखा गया है.

धान खरीदी की सीमा 15 से बढ़ाकर 20 क्विंटल प्रति एकड़ कर दी गई है. सी-वोटर ने माना है कि भूपेश सरकार की गोधन न्याय योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए संजीवनी साबित हुई है. दो रुपए किलो में गोबर और चार रुपए लीटर में गौ-मूत्र की खरीदी की जा रही है. स्वसहायता समूहों के माध्यम से इससे जैविक खाद, जैविक कीटनाशक, प्राकृतिक पेंट, डिस्टेंपर, पुट्टी, बिजली, गोकाष्ठ सहित कई चीजें बनाई जा रही हैं.

साग-सब्जी उत्पादन, मछली पालन, मधु पालन, बकरी पालन, मुर्गी पालन जैसी अनेक गतिविधियों के जरिये आय और रोजगार के लाखों अवसर पैदा किए गए. गोधन न्याय योजना में गोबर विक्रेताओं और स्व सहायता समूहों को अब तक 580 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है.

सर्वे रिपोर्ट में गौठान और रीपा का भी उल्लेख

सर्वे रिपोर्ट में कहा गया कि छत्तीसगढ़ के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 10288 गौठानों का निर्माण कर उन्हें औद्योगिक पार्कों के रूप में विकसित किया जा रहा है. रीपा योजना में 300 औद्योगिक पार्कों की स्थापना की गई है. इन पार्कों में छोटे-छोटे उद्योगों की स्थापना कर रोजगार के अवसर निर्मित किए जा रहे हैं. राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत 5.62 लाख लोगों को हर साल 7 हजार रुपए की सहायता दी जा रही है.

इस योजना में अब तक 758.03 करोड़ रुपए का वितरण किया जा चुका है. राज्य के आवासहीन परिवारों को आवास उपलब्ध कराने के लिए छत्तीसगढ़ ग्रामीण आवास न्याय योजना चली जा रही है. विभिन्न न्याय योजनाओं के जरिए पांच सालों में पौने दो लाख करोड़ रुपए बांटे गए. नीति आयोग की रिपोर्ट के अनुसार इसी अवधि में छत्तीसगढ़ के 40 लाख लोग गरीबी से बाहर आए हैं.

इन योजनाओं के जरिए रोजगार के लाखों अवसर बनाने के साथ-साथ शासन ने 42 हजार शासकीय पदों पर भर्तियां निकालीं. 30 हजार से ज्यादा शिक्षकों की नियुक्तियां कीं. शिक्षित बेरोजगारों के आर्थिक संबल के लिए हर माह 2500 रुपए बेरोजगारी भत्ता योजना शुरू की गई. स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट विद्यालय योजना के तहत अंग्रेजी और हिंदी माध्यम से उत्कृष्ट स्कूलों की शुरुआत हुई. अंग्रेजी माध्यम के उत्कृष्ट कॉलेजों की शुरुआत की गई. राज्य में 08 नये मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए पहल की हुई. इनमें से 04 खुल चुके हैं और शेष 04 प्रक्रिया में है.

ओपिनियन पोल में कांग्रेस 62, कारण-भूपेश की लोकप्रियता

आईएएनएस-पोलस्ट्रेट ओपिनियन पोल ने छत्तीसगढ़ में आगामी विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को 62 और भाजपा को 27 सीटें मिलने का अनुमान जताया है. 1 से 13 सितंबर के बीच हुए इस सर्वे में 3,672 लोगों की राय ली गई. सर्वे में यह बात आई कि कांग्रेस की मजबूती के पीछे सीएम भूपेश की लोकप्रियता है. पोल में शामिल 60 प्रतिशत लोगों ने उन्हें सीएम के लिए सबसे लोकप्रिय उम्मीदवार बताया. भाजपा के डा. रमन को 34 प्रतिशत लोगों ने चुना. पोल में कांग्रेस को 44 फीसदी और भाजपा को 38 फीसदी वोट मिलने का अनुमान है.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button