डी.एल.एड., बी.एड., बी.ए.बी.एड. और बी.एस.सी.बी.एड. प्रवेश के लिए अंतिम चरण आबंटन प्रक्रिया में संशोधन

रायपुर. राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद द्वारा 24 नवम्बर 2023 को जारी डी.एल.एड., बी.एड., बी.ए.बी.एड. और बी.एस.सी.बी.एड. पाठ्यक्रम सत्र 2023-24 में प्रवेश के लिए अंतिम चरण के आबंटन प्रक्रिया में समय-सारणी में संशोधित किया गया है. संशोधन अनुसार प्रवेश के लिए निःशुल्क पंजीयन 14 फरवरी से 16 फरवरी तक कराना होगा. 19 दिसम्बर को शाम 4 बजे प्रतीक्षा सूची जारी की जाएगी. महाविद्यालय द्वारा चयन सूची 21 दिसम्बर को दोपहर 12 बजे जारी होगी और महाविद्यालय द्वारा 22 दिसम्बर तक प्रवेश को ऑनलाइन अपडेट करना होगा.

संशोधन अनुसार द्वितीय चरण के चौथी सूची के बाद शेष रिक्त सीटों के लिए प्रतीक्षा सूची जारी की जानी है. प्रतीक्षा सूची के लिए अभ्यर्थियों का आईडी एक्टिव है, उन्हें निःशुल्क अपना विकल्प पुनः देना अनिवार्य होगा. विकल्प पुनः देने के लिए पुनः निःशुल्क पंजीयन कराना आवश्यक होगा. विकल्प किसी एक महाविद्यालय का ही देना होगा. एक्टिव अभ्यर्थियों के लिए निःशुल्क पंजीयन एवं विकल्प देने तथा जिन अभ्यर्थियों का लॉगइन आईडी एक्टिव नहीं है उन्हें पुनः निःशुल्क पंजीयन एवं किसी एक महाविद्यालय का विकल्प 14 दिसम्बर से 16 दिसम्बर तक देना होगा.

प्रतीक्षा सूची के लिए जिन अभ्यर्थियों का लॉगइन आईडी एक्टिव नहीं है वे भी पुनः पंजीयन कर सकते हैं. इन अभ्यर्थियों के द्वारा पूर्व में दिए गए समस्त महाविद्यालयों के विकल्प को निरस्त कर दिया गया है. अब यदि वे प्रवेश प्रक्रिया में पुनः शामिल होना चाहते हैं तो उन्हें निर्धारित तिथि में पुनः निःशुल्क पंजीयन कर किसी एक महाविद्यालय का विकल्प देना होगा. इस चरण में जिन्हांेंने अब तक अपना डी.एल.एड., बी.एड., बी.ए.बी.एड. और बी.एस.सी.बी.एड. आबंटन प्रक्रिया में पंजीयन नहीं कराया है एवं महाविद्यालयों में प्रवेश ले चुके हैं वे सम्मिलित नहीं हो सकते.

अभ्यर्थी महाविद्यालय का विकल्प चुनने से पहले चिप्स के साइट https://slcm.cgstate.gov.in/SCERTOnline/  में रिक्त सीटों की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button