राज्यसभा सांसद छोड़ सकती हैं बीजेपी का साथ, राजनीतिक गलियारे में अटकलें हुईं तेज

कलकत्ता. बंगाल में बीजेपी को बड़ी नेता रूपा गांगुली (Roopa Ganguly) ने हाल ही में एक सामाजित कार्यक्रम में टीएमसी प्रवक्ता कुणाल घोष (Kunal Ghosh) से मुलाकात की थी. इस मुलाकात के बाद से राजनीतिक गलियारे में रूपा गांगुली को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं. कयास लगाए जा रहे हैं कि रूपा गांगुली बीजेपी का साथ टीएमसी के साथ जा सकती हैं. वहीं रूपा गांगुली और कुणाल घोष दोनों ने ही इसे शिष्टाचार भेंट बताया है. दोनों की मुलाकात की तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं.

रूपा गांगुली को बताया बड़ी बहन

कुणाल घोष ने मीडिया से बातचीत में कहा कि हम किसी कार्यक्रम में मिले. हम अलग अलग राजनीतिक दलों से हैं लेकिन वह मेरी बड़ी बहन जैसी हैं. हमारी किशोरावस्था के दौरान वह प्रसिद्ध कलाकार थीं जिन्होंने महाभारत में द्रौपदी का किरदार निभाया था. किसी को भी हमारी शिष्टाचार भेंट से कोई राजनीतिक मतलब निकालने का प्रयास नहीं करना चाहिए.

बता दें कि रूपा गांगुली 2015 में बीजेपी में शामिल हुई थीं. बाद में उन्हें बीजेपी ने महिला मोर्चा की राज्य इकाई के अध्यक्ष का पदभार सौंपा. इसके अगले ही साल वह राज्यसभा पहुंचीं. रूपा गांगुली ने एक न्यूज चैनल से कहा कि भिन्न राजनीतिक पार्टी के व्यक्ति से बात करने का मतलब उसमें (उस दल में) शामिल होने की संभावना नहीं होती है. पश्चिम बंगाल की बीजेपी इकाई ने इस मामले को ज्यादा तवज्जो नहीं दी. माना जा रहा है कि बंगाल से भारतीय जनता पार्टी रूपा गांगुली को रिप्लेस करते हुए मिथुन चक्रवर्ती को राज्यसभा भेजने वाली है. ऐसे में रूपा गांगुली दलबदल पर विचार कर रही हैं.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button