National

मौसम विभाग ने जाताया इन इलाकों में आंधी-बारिश का अनुमान, जाने आपके शहर का हाल

रायपुर. 1 जुलाई को हुई बारिश ने दिल्ली को कुछ राहत दी है. मौसम विभाग के मुताबिक, देश की राजधानी दिल्ली और आसापास के इलाकों में सोमवार को हल्की बारिश हो सकती है. इसके अलावा IMD ने इस क्षेत्र में आंधी तूफान की संभावना भी जताई है. IMD के अनुसार, आज दिल्ली एनसीआर का अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस, न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है. मौसम विभाग का अनुमान है कि दिल्ली एनसीआर में मोटे तौर पर आसमान साफ रहने की संभावना है लेकिन दोपहर के समय में बादल छा सकते हैं. इसके अलावा राजधानी नई दिल्ली में 6 जुलाई को हल्की से थोड़ी ज्यादा बारिश होने की संभावना है.

मध्य प्रदेश के कई जिलों में येलो अलर्ट

मौसम विभाग ने आज के लिए मध्य प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई है. भारी बारिश की संभावना को देखते हुए मौसम विभाग ने भोपाल संभाग समेत अनूपपुर,उमरिया,शहडोल,जबलपुर, सिवनी,छिंदवाड़ा, बालाघाट,मंडला, कटनी,बैतूल,नर्मदापुरम,सागर,दमोह, खंडवा,खरगौन,शाजापुर,आगर, इंदौर,धार,उज्जैन,रतलाम,देवास,अलीराजपुर,गुना और मंदसौर जिलो में येलो अलर्ट जारी किया है. इसके अलावा मौसम विभाग ने भोपाल, नर्मदापुरम, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर,शहडोल संभाग के साथ-साथ सागर, दमोह और गुना में गरज चमक के साथ बिजली गिरने का अलर्ट भी जारी किया गया है.

उत्तर प्रदेश के 36 जिलों में बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने अगले तीन दिनों तक उत्तर प्रदेश में गोरखपुर, लखनऊ, कानपुर समेत 36 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है. जिन जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है उनमें सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, बागपत, शामली, बुलंदशहर, हापुड़, अलीगढ़, आगरा, मथुरा, हाथरस, एटा, कासगंज, संभल, मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, बदायूं, लखीमपुर खीरी, पीलीभीत, शाहजहांपुर, हरदोई शामिल हैं.

छत्तीसगढ़ के अधिकांश जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना

मौसम विभाग ने छत्तीसगढ़ के ज्यादातर जिलों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई है. मौसम विभाग ने प्रदेश के सरगुजा, जशपुर, महासमुंद, बीजापुर और नारायणपुर जिले के में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. इसके अलावा रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग संभाग के कुछ स्थानों के लिए मौसम विभाग ने यलो अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि दक्षिण झारखंड और उसके आसपास चक्रीय चक्रवाती घेरा सक्रिय होने से निम्न दाब का क्षेत्र बनने की संभावना है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button