खेल

विश्व कप में विराट कोहली बने प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट

कोहली विश्व कप में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड जीतने वाले भारत के तीसरे खिलाड़ी हैं। उनसे पहले 2003 में सचिन तेंदुलकर और 2011 में युवराज सिंह ने यह अवॉर्ड जीता था। इनमें से सचिन तेंदुलकर फाइनल में हारनी वाली टीम इंडिया के सदस्य थे।

अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में रविवार (19 नवंबर) को कंगारू टीम ने उसे छह विकेट से हरा दिया। ऑस्ट्रेलिया ने मैच जीतकर छठी बार विश्व कप को अपने नाम किया। उसने 1987, 1999, 2003, 2007 और 2015 में भी विश्व कप पर कब्जा किया था। इस मैच के बाद भारत के दिग्गज बल्लेबाज विराट कोहली को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट का अवॉर्ड दिया गया।

इस विश्व कप में हर भारतीय बल्लेबाज ने रन बनाने के लिए तत्परता दिखाई है, जिससे भारत के स्कोरिंग रेट को अच्छे रन रेट से बढ़ाने में मदद मिली है। पूर्व कप्तान विराट कोहली ने टीम में एंकर बैटर का किरदार निभाई है। यही वजह है कि टीम इंडिया मध्य के ओवरों में ज्यादा विकेट नहीं गंवाई है। विराट का फॉर्म देखने लायक रहा है और वह 95.62 की औसत से 765 रन बनाए हैं, जो कि विश्वकप टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे ज्यादा है। इस दौरान उन्होंने तीन शतक और छह अर्धशतक जड़े हैं। 113 रन इस विश्व कप में कोहली का सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा है।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button