कांग्रेस विधायक पर हमला, भाजपा नेताओं पर लगे आरोप, FIR दर्ज

कांग्रेस विधायक और आदिवासी नेता अनंत पटेल नवसारी जिले में कथित तौर पर भाजपा के एक स्थानीय पदाधिकारी और उसके समर्थकों द्वारा किए गए हमले में जख्मी हो गए.

घटना शनिवार शाम की है. रविवार तड़के खेरगाम थाने में विभिन्न धाराओं और अनुसूचित जाति तथा जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है. इसमें पटेल का आरोप है कि गरबा कार्यक्रम में उनके समर्थन में एक गाना गाए जाने से भाजपा के स्थानीय नेता और जिला पंचायत प्रमुख बाबू अहीर नाराज हो गए. इसके बाद उन्होंने और उनके समर्थकों ने उन पर (पटेल पर) हमला कर दिया. उन्हें कई बार घूंसे मारे गए और गालियां भी दी गईं.

राहुल गांधी ने निंदा की कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने पटेल पर हमले की निंदा की और दावा किया कि यह भाजपा सरकार के गुस्से का नतीजा है. पटेल गुजरात में केंद्र की पार-तापी-नर्मदा संपर्क परियोजना के खिलाफ आंदोलन की अगुवाई करते रहे हैं.

हालांकि, गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने हमले को लेकर सवाल उठाए हैं और कहा कि इस बात की जांच करने की जरूरत है कि कहीं यह सहानुभूति हासिल करने के लिए किया गया स्टंट तो नहीं है?

कांग्रेस के पवन खेड़ा ने भी कांग्रेस विधायक पर हमले के मामले में प्रतिक्रिया दी है. रविवार को उन्होंने कहा कि हमारे विधायक पर हमला इसलिए किया गया, क्योंकि उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार को घुटनों पर ला दिया था. जो कोई भी इस सरकार के पक्ष में नहीं खड़ा होता है, उस पर हमला होता है.

गुजरात विधानसभा में विपक्ष के नेता सुखराम राठवा, प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अमित चावड़ा और पार्टी विधायक चंद्रिका बारिया नवसारी के वांसदा शहर के एक निजी अस्पताल में रविवार को पटेल को देखने पहुंचे. राहुल गांधी ने ट्विटर पर कहा, “गुजरात में ‘पार-तापी रिवर लिंक प्रोजेक्ट’ के खिलाफ आदिवासी समाज की लड़ाई लड़ने वाले हमारे विधायक अनंत पटेल जी पर भाजपा द्वारा कायराना हमला निंदनीय है.” उन्होंने कहा, “यह भाजपा सरकार की बौखलाहट है.

कांग्रेस पार्टी का हर कार्यकर्ता आदिवासियों के हक़ की लड़ाई के लिए आखिरी सांस तक लड़ेगा.” गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी ने संवाददाताओं से कहा, “यह जांच का विषय है कि क्या यह सहानुभूति हासिल करने का एक स्टंट है? और इसकी जांच की जाएगी.” पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं और अनुसूचित जाति तथा जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button