लाल डायरी मामले की जांच हो गहलोत

जयपुर . राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लाल डायरी और महादेव सट्टेबाजी ऐप मामले को भाजपा का राजस्थान और छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव जीतने के लिए रचा गया षड्यंत्र करार दिया. उन्होंने इसकी जांच उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश से कराने की मांग की.

गहलोत ने दावा किया कि उनकी सरकार के खिलाफ कोई सत्ता विरोधी लहर नहीं है. उन्होंने उम्मीद जताई कि राज्य में एक बार फिर कांग्रेस की सरकार बनेगी. गहलोत ने दिवंगत कांग्रेस नेता राजेश पायलट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी की भी आलोचना की और कहा कि भाजपा राज्य में गुर्जर समुदाय को भड़काना चाहती है.

कांग्रेस मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन में गहलोत ने कहा कि महादेव ऐप व लाल डायरी मामले की जांच उच्चतम न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश से कराई जानी चाहिए. भाजपा ने चुनाव जीतने के लिए चुनाव के दौरान षड्यंत्र किया है. इसकी जांच होनी चाहिए.

‘पुरानी पेंशन के लिए गारंटी चाहिए’

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सरकारी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना (ओपीएस) बहाल करने को लेकर गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि इसके लिए समिति नहीं, गारंटी चाहिए. उन्होंने ओपीएस के बारे में शाह की टिप्पणी को सोशल मीडिया मंच एक्स पर शेयर करते हुए लिखा, कांग्रेस कहती है ओपीएस की गारंटी. भाजपा कहती है कमेटी. ये फर्क है कांग्रेस और भाजपा में.

 

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button