NationalPolitical

सोनिया से मिले नीतीश और लालू कहा- देश को बचाना है तो BJP को हराना है

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज रविवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू यादव से मुलाकात की. इस मुलाकात को लेकर कई दिनों से सियासी चर्चाओं का बाजार गरम था. मुलाकात खत्म होने के बाद नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव ने सोनिया गांधी की तारीफ की है. वहीं, इस बैठक में सोनिया गांधी ने कांग्रेस के आंतरिक चुनावों के बाद विपक्षी एकता परियोजना को आगे बढ़ाने के लिए कहा. उन्होंने सुझाव दिया कि दोनों नेताओं को आगामी दिनों में नए कांग्रेस अध्यक्ष से मिलना चाहिए और फैसला करना चाहिए.

लालू प्रसाद यादव ने क्या कहा?

बैठक के बाद लालू यादव ने संवाददाताओं से कहा कि हमने सोनिया गांधी से मुलाकात की और 2024 में भाजपा को हराने के लिए विपक्षी एकता के बारे में बात की. उन्होंने कहा कि हम कांग्रेस के अध्यक्ष चुनाव के बाद फिर से मिलेंगे. लालू यादव ने कहा कि कांग्रेस के बिना कोई गठबंधन नहीं है और वे भाजपा से लड़ने में सबसे आगे रहे हैं.

नीतीश कुमार ने क्या कहा?

वहीं, इस बैठक के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि भाजपा के खिलाफ लड़ाई में सभी दल एकमत हैं. कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के बाद ठोस कार्य योजना पर चर्चा की जाएगी. देश को आगे ले जाने के लिए सभी दलों को मिलकर काम करने की जरूरत है. सोनिया गांधी ने हमसे कहा कि कांग्रेस के नए अध्यक्ष का चुनाव होने के बाद हम दोबारा मुलाकात करेंगे.

मिशन 2024 की तैयारी

बता दें कि लालू-नीतीश की सोनिया से मुलाकात को 2024 के आम चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का मुकाबला करने के लिए विपक्षी दलों को एकजुट करने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है. गांधी के 10 जनपथ आवास पर बैठक को विपक्षी दलों के बीच एकता बनाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि कांग्रेस और कुछ क्षेत्रीय दलों के बीच मतभेदों को सुलझाने के प्रयास जारी हैं जिनका पारंपरिक रूप से टकराव रहा है.

नीतीश लगातार कर रहे विपक्षी नेताओं से मुलाकात

अगस्त में बिहार में सरकार बनाने के लिए भाजपा से नाता तोड़ने और राजद और कांग्रेस से हाथ मिलाने के बाद से कुमार की सोनिया गांधी से यह पहली मुलाकात है. इससे पहले, कुमार ने कांग्रेस और वामपंथी दलों सहित सभी विपक्षी दलों को भाजपा से मुकाबला करने के लिए एकजुट करने का आह्वान किया और कहा कि यह ‘विपक्ष का मुख्य मोर्चा’ सुनिश्चित करेगा कि भाजपा 2024 के लोकसभा चुनावों में बुरी तरह हार जाए.

इनेलो की रैली में भी पहुंचे नीतीश

कुमार ने हरियाणा में इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) की ओर से पूर्व उप प्रधानमंत्री देवीलाल की जयंती के मौके पर आयोजित एक रैली में कहा कि अगर सभी गैर-भाजपा दल एकजुट हों तो देश को तबाह करने वालों से छुटकारा मिल सकता है. इनेलो नेता ओम प्रकाश चौटाला, शिरोमणि अकाली दल के सुखबीर सिंह बादल, जिनका कांग्रेस के साथ टकराव का लंबा इतिहास रहा है, दोनों नेता राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के शरद पवार, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के सीताराम येचुरी और शिवसेना के अरविंद सावंत जैसे अन्य नेता वरिष्ठ नेताओं के साथ मंच पर थे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!