NationalPolitical

क्या शिवसेना का साथ छोड़ देंगे शिंदे और 40 विधायक, गुजरात से देर रात गुवाहाटी हुए शिफ्ट

मुंबई. महाराष्‍ट्र में जारी राजनीत‍िक घमासान के बीच शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे के साथ पार्टी के अन्य 33 एमएलए और 7 निर्दलीय विधायक गुवाहाटी पहुंच गए हैं. गुवाहाटी रवाना होने से पहले एकनाथ शिंदे ने सूरत एयरपोर्ट पर बयान दिया और कहा कि हमने बालासाहेब ठाकरे की शिवसेना को नहीं छोड़ा है और न ही छोड़ेंगे. हालांकि उन्होंने उद्धव ठाकरे और उनकी सरकार को लेकर कुछ नहीं कहा.

बालासाहेब ठाकरे के हिंदुत्व का कर रहे हैं अनुसरण: शिंदे

गुवाहाटी के लिए रवाना होने से पहले सूरत एयरपोर्ट पर मीडियाकर्मियों से बात करते हुए एकनाथ शिंदे ने कहा कि वे बालासाहेब ठाकरे के हिंदुत्व का अनुसरण कर रहे हैं और इसे आगे भी करेंगे. एकनाथ शिंदे का बयान ऐसे समय में आया है, जब अटकलें लगाई जा रही थीं कि शिंदे अन्य विधायकों के साथ महाविकास अघाडी सरकार को गिराने के लिए भाजपा में शामिल हो सकते हैं.

बालासाहेब ठाकरे की शिवसेना को नहीं छोड़ा: एकनाथ शिंदे

एकनाथ शिंदे ने कहा, ‘हमने बालासाहेब ठाकरे की शिवसेना को नहीं छोड़ा है और नहीं छोड़ेंगे. हम बालासाहेब के हिंदुत्व का पालन करते रहे हैं और इसे आगे भी करेंगे.’ बता दें कि एकनाथ शिंदे शिवसेना के 33 विधायकों और 7 निर्दलीय विधायकों के साथ सूरत के ली मेरिडियन होटल में ठहरे थे, बुधवार तड़के असम के गुवाहाटी के लिए सूरत एयरपोर्ट से रवाना हुए.

बीजेपी से गठबंधन चाहते हैं एकनाथ शिंदे: शिवसेना नेता

इस बीच शिवसेना के एक वरिष्ठ नेता ने दावा किया है कि पार्टी के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने सोमवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से आग्रह किया कि वह भारतीय जनता पार्टी के साथ फिर से गठबंधन कर लें. शिवसेा नेता ने कहा, ‘मुख्यमंत्री ने शिंदे से फोन पर बात भी की, जिस दौरान शिंदे ने ठाकरे से कहा कि वह बीजेपी के साथ गठबंधन कर लें और कांग्रेस व एनसीपी के साथ गठबंध तोड़ लें.’

क्या बीजेपी के साथ जाएंगे उद्धव ठाकरे?

हालांकि, बीजेपी से गठबंधन करने के एकनाथ शिंदे के शर्त पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने क्या जवाब दिया, इसकी कोई जानकारी नहीं है. शिवसेना नेता ने कहा कि इस पर ठाकरे ने क्या जवाब दिया यह ज्ञात नहीं है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button