ऋषिकेश में नहर से मिला अंकिता का शव; CM धामी ने गठित की SIT, अब तक 3 गिरफ्तार

अंकिता हत्याकांड से पूरा उत्तराखंड उबल पड़ा है. एक रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट की नौकरी करने वाली अंकिता भंडारी की नहर में धक्का देकर इसलिए हत्या कर दी गई, क्योंकि उसने गेस्ट के साथ सोने से इनकार कर दिया था. वारदात को अंजाम रिजॉर्ट के मालिक ने दो कर्मचारियों के साथ मिलकर दिया. रिजॉर्ट का मालिक हरिद्वार के भाजपा नेता विनोद आर्य का बेटा है. आज सुबह अंकिता का शव चीला नहर से बरामद कर लिया गया है. परिजनों ने शव की पहचान की. इससे पहले देर रात रिसॉर्ट को बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया गया. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घटना पर दुख जाहिर करते हुए एसआईटी जांच का आदेश दिया है. घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ी को रोककर आरोपियों की जमकर पिटाई कर दी तो थाने पर भी धावा बोल दिया.

इससे पहले अंकिता की हत्या के मामले में मुख्यमंत्री धामी ने सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे. मुख्यमंत्री धामी ने घटना पर दुख जताते हुए कहा पुलिस महानिदेशक को ऋषिकेश घटना को लेकर सख़्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. जिस किसी ने ये जघन्य अपराध किया है उसे हर हाल में कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी. पीड़िता को न्याय दिलाना सुनिश्चित किया जाएगा. 

18 सितंबर से थी लापता

गौरतलब है कि अंकिता 18 सितंबर से लापता थी और 22 सितंबर को उसका शव मिलने के बाद जब पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला की उसकी हत्या हुई है. इस हत्याकांड में शामिल तीनों आरोपियों को 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया गया. बीजेपी नेता और पूर्व राज्य मंत्री विनोद आर्य का बेटा पुलकित आर्य इस मर्डर केस का मुख्य आरोपी है. पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि पुलकित और उसके अन्य दो साथियों ने अंकिता भंडारी की हत्या कर उसका शव नहर में फेंक दिया. उत्तराखंड पुलिस ने फेसबुक के जरिए जानकारी दी कि आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पुलकित आर्य समेत 3 की हुई गिरफ्तारी

गौरतलब है कि उत्तराखंड के पौड़ी जिले के यमकेश्वर क्षेत्र में एक रिजॉर्ट से पांच दिन पहले संदिग्ध परिस्थितियों में लापता 19 वर्षीया अंकिता भंडारी की हत्या के आरोप में शुक्रवार को भाजपा नेता के रिजॉर्ट संचालक पुत्र और उसके दो अन्य कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया. पौडी के श्रीकोट की रहने वाली अंकिता गंगा भोगपुर क्षेत्र में वनतारा रिजॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट के तौर पर काम करती थी और 19 सितंबर से लापता थी.

पुलिस ने मामले में तीन आरोपियों-रिजॉर्ट संचालक पुलकित आर्य, प्रबंधक सौरभ भास्कर और सहायक प्रबंधक अंकित गुप्ता को गिरफ्तार किया. मुख्य आरोपी पुलकित हरिद्वार के भाजपा नेता विनोद आर्य का पुत्र बताया जा रहा है. विनोद आर्य पूर्व में दर्जाधारी राज्य मंत्री भी रह चुके हैं. आर्य को उत्तराखंड माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति के साथ राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया था.

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button