बाबा मुख्यमंत्री नहीं कर सके कोई बड़ा काम: लखनऊ HCL में जनसभा के दौरान अखिलेश ने कसे तंज

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने रविवार को लखनऊ के अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों में रथ यात्रा निकाली। रविवार को HCL IT City लखनऊ से निकलकर महुराकला तक विजय रथ यात्रा पहुंची। सुबह 11 बजे एचसीएल के सामने संबोधन करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि नए साल में उत्तर प्रदेश में भी बदलाव होगा। नए साल में उत्तर प्रदेश में कोई भी वर्ग ऐसा नहीं है जो बदलाव न चाहता हो। अब तक जहां विकास हो जाना चाहिए था, वहां नौजवान नौकरी के लिए तरस रहा है। UP की भाजपा सरकार चाहे स्वास्थ्य हो या शिक्षा, सरकार हर मोर्चे पर फेल है। छापेमारी पर अखिलेश ने कहा कि कानपुर में जो पैसा मिला वो भाजपा का।

यहां जंगल हुआ करता था

गोसाईंगंज में एचसीएल पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि यहां पर जंगल हुआ करता था। डेयरी का थोड़ा बहुत कार्य होता था, लेकिन समाजवादी सरकार ने यहां अमूल प्लांट के साथ ही तकनीकी शिक्षा नौकरी के लिए बच्चों को बाहर जाना पड़ता है। एचसीएल बनने के बाद अब बच्चों को बाहर नहीं जाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार में चक गजरिया लखनऊ के लिए नहीं पूरे देश के लिए उदाहरण बना है कि एक शहरी विकास कैसे किया जा सकता है।

CM योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि जो बाबा मुख्यमंत्री है उन्हें कोई बड़ा काम करना पड़ता है तो वह अपने बनाए हुए स्टेडियम को नहीं ढूंढते हैं, बल्कि समाजवादियों के बनाए हुए इकाना स्टेडियम मैं कार्यक्रम करते हैं। उन्होंने कहा कि ओलंपिक के खिलाड़ियों को सम्मान देना था तो उस वक्त पूरे उत्तर प्रदेश में उनको इकाना स्टेडियम ही मिला था। हम समाजवादी लोग खेल को समझते हैं। उन्होंने कहा कि बाबा मुख्यमंत्री क्या क्रिकेट खेल सकते हैं, क्या बॉलिंग कर सकते हैं, फील्डिंग कर सकते हैं? क्या बाबा मुख्यमंत्री लैपटॉप चला लेते हैं, टेबलेट चला पाएंगे। अखिलेश ने उपस्थित भीड़ से अपील करते हुए कहा- हम आपसे निवेदन करना चाहते हैं। अगर उत्तर प्रदेश का खुशहाली के रास्ते पर ले जाना चाहते हैं तो योग्य सरकार बनानी होगी।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button