Political

कांग्रेस के बयान पर बीजेपी का पलटवार:कहा- ‘राष्ट्रपति चुनाव के समय कहां गया था आदिवासी प्रेम’; बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष बदलने पर करने लगे राजनीति

बिलासपुर में वरिष्ठ BJP नेता और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कांग्रेस के बयान पर पलटवार किया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का आदिवासी प्रेम तब कहां गया था, जब NDA ने पहली बार देश की महिला आदिवासी द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया था. तब कांग्रेसी विधायकों ने उन्हें वोट देने में दरियादिली क्यों नहीं दिखाई ? अब BJP के प्रदेश अध्यक्ष बदलने पर उन्हें आदिवासी समाज की चिंता हो रही है.

बुधवार की शाम बिलासपुर में BJP की तिरंगा यात्रा की तैयारियों की समीक्षा बैठक लेने आए पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि देश की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं. पूरा देश अमृत महोत्सव मना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वे आजादी के अमृत महोत्सव पर हर घर में तिरंगा झंडा फहराएं. साथ ही देश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और शहीदों के योगदान के प्रति लोगों को जागरूक करने का निर्देश भी दिया गया है.

छत्तीसगढ़ के 25 लाख घरों में झंडा फहराने का निर्णय लिया गया है. हर गरीब वर्ग के लोगों तक तिरंगा पहुंचाने और उन्हें स्वतंत्रता दिवस के संबंध में जानकारी देने के लिए अभियान चलाया जा रहा है. बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि तिरंगा यात्रा राष्ट्र प्रेम का काम है, इसलिए इसमें सबकी सहभागिता जरूरी है.

कांग्रेस नेताओं ने आदिवासी नेता विष्णुदेव साय को पद से हटाने पर दी थी प्रतिक्रिया

विश्व आदिवासी दिवस के दिन भाजपा ने छत्तीसगढ़ में अपना प्रदेश अध्यक्ष बदल दिया. आदिवासी वर्ग के विष्णुदेव साय को हटाकर OBC वर्ग से आने वाले अरुण साव को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की कमान सौंप दी गई है. इस पर कांग्रेस ने भाजपा को आदिवासी विरोधी करार दिया था. इसी बयान पर पलटवार करते हुए पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि जब भाजपा ने आदिवासी राष्ट्रपति बनाने के लिए द्रौपदी मुर्मू को प्रत्याशी बनाया था, तो कांग्रेस ने उन्हें वोट क्यों नहीं दिया? उस समय कांग्रेस को आदिवासी समाज की चिंता क्यों नहीं हुई?

अरुण साव के आने से BJP तेजी से होगी संगठित

बृजमोहन अग्रवाल ने नए प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव को शुभकामनाएं और बधाई देते हुए कहा कि वे उच्च शिक्षित हैं. वे वकालत भी कर चुके हैं. शुरूआत से भाजपा के विचारों से जुड़े रहे हैं. उनके नेतृत्व में भाजपा और तेजी से संगठित होगी और प्रदेश में कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकेंगे.

नेता प्रतिपक्ष बदलना भविष्य के गर्भ में है- बृजमोहन अग्रवाल

प्रदेश में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के साथ ही नेता प्रतिपक्ष बदले जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह फैसला अभी भविष्य के गर्भ में है. उन्होंने कहा कि पार्टी जो भी निर्णय लेगी, वह हम सबको स्वीकार होगा. नेता प्रतिपक्ष के लिए उनके नाम की चर्चा के सवाल पर उन्होंने कहा कि भाजपा में इच्छा रखना खराब बात नहीं है, लेकिन पार्टी के निर्णय को हम सब स्वीकार करते हैं. शीर्ष पद मिलने की इच्छा तो सबकी होती है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button