एंबुलेंस नहीं मिलने पर, 2 साल के मासूम के शव को हाथ में ले जाने को मजबूर हुआ भाई

बागपत (उत्तर प्रदेश), 29 अगस्त  सोशल मीडिया पर 10 साल के एक लड़के का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें उसकी गोद में दो साल के भाई का शव नजर आ रहा है. इस वीडियो को देखने के बाद लोगों में स्वास्थ्य विभाग के खिलाफ काफी गुस्सा है. 10 साल के इस लड़के का नाम सागर कुमार है.

पुलिस के अनुसार, दो साल के बच्चे कला कुमार की शुक्रवार को उसकी सौतेली मां सीता ने कथित तौर पर हत्या कर दी थी. दिल्ली सहारनपुर हाइवे पर बैंक के पास रोते हुए मासूम को चुप ना करा पाने पर महिला ने बच्चे को कार के आगे धक्का दे दिया. कार की टक्कर से मासूम की मौत हो गयी.

बागपत के सर्कल अधिकारी देवेंद्र कुमार शर्मा ने कहा, स्थानीय लोगों ने हमें सूचित किया, जिसके बाद महिला के खिलाफ आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया. लड़के के शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेजा गया.

पोस्टमार्टम के बाद शव उसके पिता प्रवीण कुमार को सौंप दिया गया, जो शामली जिले में दिहाड़ी मजदूर हैं.

प्रवीण के साथ उसका रिश्तेदार रामपाल और उसका बेटा सागर भी था.

रामपाल ने आरोप लगाया कि प्रवीण ने बार-बार एक स्वास्थ्य अधिकारी से शव ले जाने के लिए एंबुलेंस उपलब्ध कराने का अनुरोध किया. लेकिन उसके अनुरोध पर कोई ध्यान नहीं दिया गया.

Related Articles

Back to top button