छत्तीसगढ़ः सक्ती को 33 वे जिले के रूप में मिली नयी पहचान और शक्ति, सीएम भूपेश बघेल ने किया शुभारंभ

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सक्ती में ऐतिहासिक भीड़ के बीच नवगठित इस जिले का शुभारंभ कर 15 अगस्त 2021 को सक्ती को जिला बनाए जाने के अपने वायदे को पूरा किया। उन्होंने प्रदेश में सक्ती को 33 वें जिला के रूप में अस्तित्व में लाते हुए इस जिले को 153 करोड़ रुपए से अधिक के विकास कार्यों की सौगात दी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर इस नए जिले के विकास के लिए 3 करोड़ की अतिरिक्त राशि स्वीकृत किए जाने की भी घोषणा की।

साकार हुआ पुरखों का सपना, बनेगी नई पहचान

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला निर्माण का वादा आज पूरा हो गया है। सक्ती जिले की एक नई पहचान बन गई है। पुरखों द्वारा देखे गए सपने साकार हो गए हैं और एक सुग्घर छत्तीसगढ़ विकास की राह में भी आगे बढ़ रहा है। सक्ती जिला बनने के पश्चात इस जिले के लोगों की समस्याओं का अंत होने की बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक ही कार्य काल में राज्य से 85 तहसील और नए अनुविभाग के साथ नये जिले बने। इससे आम नागरिकों की सहूलियतें बढ़ेगी। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक कार्यालय का निर्माण भी शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिए।

शिक्षा,स्वास्थ्य के क्षेत्र में हो रहा है बदलाव

मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ व्यक्ति एक विकास की इकाई है। हमने प्रदेश की जनता के विकास के लिए योजनाएं बनाई है। शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 279 स्वामी आत्मानन्द विद्यालय संचालित किए जा रहे हैं। आने वाले शिक्षा सत्र में 422 नए स्वामी आत्मानन्द अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालित किए जाएंगे। कुल 701 विद्यालयों के संचालन से शिक्षा के क्षेत्र में परिवर्तन होगा। इसी तरह कुपोषण को दूर करने मुख्यमंत्री सुपोषण योजना, स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के दिशा में मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना, हाट बाजार क्लीनिक योजना से लोगों का उपचार हो रहा है।

आपकी दीपावली अच्छे से मने, इसके लिए राशि पहले देने की कोशिश करेंगे

सीएम ने कहा कि किसानों के ऋण माफी के अलावा धान खरीदी तथा गोधन न्याय योजना से गोबर खरीदी करके विभिन्न योजनाओं के माध्यम से पैसा पहुचाने और आर्थिक रूप से मजबूत बनाने का काम किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस साल धान की अच्छी पैदावार होगी। मैंने स्वयं भी रोड शो के दौरान आपके जिले के खेतों को देखा है। वैसे भी यह जिला सबसे ज्यादा धान उत्पादन वाला जिला है। उन्होंने कहा कि दीवाली पर्व की खुशियों के बीच एक नवम्बर या उससे पहले राजीव गाँधी किसान न्याय योजना की तृतीय किस्त भी खाते में प्रदान कर दी जाएगी, ताकि आपकी दीपावली अच्छे से मन सके। उन्होंने कहा कि राज्य में भूमिहीन कृषि मजदूरों को 7 हजार की राशि दी जा रही है। लघु वनोपज उत्पादनों की खरीदी की व्यवस्था की गई है। इससे किसानों और मजदूरों की आर्थिक स्थिति सुदृढ हुई। छत्तीसगढ़ में खुशहाली आयी है।

नया जिला बना, कोई भुलाएं नहीं

नवगठित जिला सक्ती के उद्घाटन समारोह में कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने कहा कि मुख्यमंत्री ने नया जिला बनाकर एक बड़ी सौगात दी है। उन्होंने जनसमुदाय से गढ़बों नवा छत्तीसगढ़ के सपने को पूरा करने के लिए बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने की अपील की।

विकास कार्यों से मिलेगी सक्ती को नई पहचान

सीएम ने नवगठित जिले सक्ती के शुभारंभ अवसर पर सक्ती जिलेवासियों को 153 करोड़ 6 लाख रूपए के 309 विभिन्न विकास कार्यों का सौगात दी। जिसमें 85 करोड़ 20 लाख रूपए की लागत के 296 कार्यों का भूमिपूजन और 67 करोड़ 85 लाख 99 हजार रूपए की लागत निर्मित 13 कार्यों का लोकार्पण किया।

aamaadmi.in अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरें

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. aamaadmi.in पर विस्तार से पढ़ें aamaadmi patrika की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Related Articles

Back to top button